मंत्री ने कहा…जैसा सोचेंगे..वैसा बनेंगे…सफल लीडर वही… जो सबको लेकर चले साथ.. करे सम्मान….

बिलासपुर— सफल लीडर वही जो दूसरों की इच्छा को सर्वोपरि रखे. क्योंकि सफल लीडर बनने के लिए सहयोग की भावना का होना अनिवार्य है।और सहयोग के लिए स्वयं को क्षमतावान बनाना जरूरी है। यह बातें निकाय मंत्री अमर अग्रवाल ने पांच दिवसीय कैरियर गाइडेंस शिविर में समापन के दौरान कही। कलेक्टर पी.दयानन्द ने भी लीडर के सच्चे लीडर के गुण पर प्रकाश डाला।

                      सिम्स आडिटोरियम में जिला प्रशासन के कार्यक्रम करियर मार्गदर्शन शिविर के समापन पर निकाय मंत्री अमर अग्रवाल ने बच्चों के बीच समय दिया। उन्होने बच्चों को सफल लीडर के गुण और कार्यों पर प्रकाश डाला। अमर अग्रवाल ने मौजूद छात्र.छात्राओं का उत्साहवर्धन किया। उन्होने कहा कि सफल लीडर वही होता है जो दूसरों की इच्छा को सर्वोपरि रखता है। सभी के सहयोग की भावना आपको लीडर बनाती है। लेकिन सहयोग करने के लिये स्वयं को क्षमतावान बनाना आवश्यक है।

                    अपने संबोधन में मंत्री ने कहा कि आप जैसा सोचते हैं..वैसा बन जाते हैं। आपको हर कदम पर बाधाओं से लड़ना है। अपने को सफल बनाना है। लक्ष्य को हासिल करने के लिए हमेशा सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ना है। जिसने अपने आपको पहचान लिया उसकी राह कोई नहीं रोक सकता है।  रास्ते खुद बनते चले जाएंगे।

                  अमर अग्रवाल ने जिला प्रशासन के कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुये कहा कि करियर से संबंधित आप सभी को प्रश्नों के जवाब मिल गये होंगे। मुझे जानकर बड़ी खुशी हुई कि आप सबने मॉल में मूवी देखी और वाटर पार्क में मस्ती भी की है। पढ़ाई के साथ मौज.मस्ती भी जरूरी है। कार्यक्रम से आप सबमें विश्वास आएगा।

                                   बच्चों को  संभाग प्रमुख टी सी महावर ने संबोधित किया। उन्होने कहा कि बच्चों को जानना जरूरी है कि क्या पढ़ें और कैसे पढ़ें। आप हमेशा अपनी जेब में एक डायरी जरूर रखें। जब भी कोई काम की बात पता चले नोट कर लें। इससे आपकी तैयारी हमेशा मजबूत रहेगी।

      कलेक्टर पी दयानंद ने बच्चों को यूपीएससी की तैयारी के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यूपीएससी में सफल होने का एकमात्र मंत्र है कठिन परिश्रम। यदि सिविल सेवा में आना है तो बारहवीं के बाद से तैयारी में जुट जाएं।अपने अनुभव साझा करते हुए बच्चों को बताया कि मेंस एक्जाम के पहले उनकी बहुत ज्यादा तवियत खराब हो गई थी। लेकिन मैंने दृढ़ निश्चय किया और उसका परिणाम आप सबके सामने है। आप सभी को कभी भी विपरीत परिस्थितियों से घबराना नहीं है। जितनी बड़ी परेशानी आएंगी..मानकर चलिए सफलता भी उतनी ही बड़ी होगी।

                 एसपी आरिफ शेख ने पुलिस सेवा में करियर बनाने पर बच्चों को जानकारी दी। शिविर के अंतिम दिन सहायक कलेक्टर  कुणाल दुदावत ने भी बच्चों को यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी के संबंध में टिप्स दिये। लॉ के क्षेत्र में करियर बनाने के लिये हाईकोर्ट के एडवोकेट श्री मतीन सिद्दिकी ने बच्चों को जानकारी दी।

                          समापन के अवसर पर बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। मंत्री अमर अग्रवाल ने सभी को प्रमाण पत्र देकर बच्चों का उत्साहवर्धन किया। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ फरीहा आलम सिद्दिकी, अपर कलेक्टर बी एस उइके, एसपी उपाध्यायए डीईओ  हेमंत उपाध्यायएश्री अतुल ओझा भी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *