मेरा बिलासपुर

मंत्री से मकान खरीदने पहुंची महिलाएं

4 07बिलासपुर— देवरीखुर्द हाउसिंग बोर्ड कालोनी की महिलाओं  ने सरकार से कालोनी की जर्जर मकान को खरीदने की मांग की है। आज भारी संख्या में छत्तीसगढ़ भवन पहुंचे कालोनीवासियों ने बताया कि 15 साल पहले बने हाउसिंग बोर्ड के मकान काफी जर्जर हो चुके हैं। लोक निर्माण विभाग से बार-बार निवेदन किये जाने के बाद भी मरम्मत नहीं कराया जा रहा है। जिससे मकान में रहने वालों को हमेशा खतरे का अंदेशा बना रहता है। कालोनीवासियों ने बताया कि हम मंत्री महोदय से निवेदन करने आए हैं कि मकान को हमें बेच दिया जाए। ताकि हम उसकी मरम्मत कर रहने लायक बना सके।

                        देवरीखुर्द स्थित हाउसिंग बोर्ड कालोनी की महिलाओं ने आज छ्त्तीसगढ़ भवन पहुंचकर बताया कि हम मंत्री से लिखित निवेदन करने आए हैं कि जर्जर मकान को हमें बेंच दिया जाए ताकि हम लोग उसे रहने लायक बना सकें। शिकायतकर्ताओं ने बताया कि 15 साल पहले बने मकान की हालत काफी जर्जर है। मकानों की मरम्मत के लिए हम लोगों ने कई बार लोक निर्माण विभाग से लिखित रूप से गुहार लगाई । बावजूद इसके आज तक मरम्मत नहीं किया गया। शायद अधिकारियों को किसी के मौत का इंतजार है।

                  हाउसिंग बोर्ड के निवासियो ने बताया कि मकानों के प्लास्टर रोज गिरते हैं। हम लोगों ने मकान का थोड़ा बहुत मरम्मत करवाया भी लेकिन हमें इतना वेतन नहीं मिलता कि मकान को ठीक करवा सकें। जबकि कई मकान तो गिरने की स्थति में हैं। बावजूद इसके प्रशासन हमारी शिकायतों पर ध्यान नहीं दे रहा है। लोक निर्माण विभाग के अधिकारी हर बार यही कहते हैं कि मरम्मत के लिए शासन के पास फण्ड है। ऐसी सूरत में हम लोग आज मंत्री से मिलकर मांग करने आए हैं कि मकान हमें बेच दिया जाए ताकि मरम्मत के बाद हमारा परिवार निडर होकर घर में रह सके।

कोटा विधायक रेणु जोगी भाजपा से लड़ सकती है चुनाव.?..दिल्ली में घमासान...कभी भी हो सकता है फैसला

                   कालोनीवासियों के अनुसार कालोनी निर्माण में बहुत लापरवाही बरती गयी है। इसमें घटिया स्तर का सामानों का प्रयोग किया गया है। जिसके कारण मात्र 15 साल में कालोनी के सभी मकान खण्डहर में तब्दील हो गए हैं।

                       मंत्री महोदय के बिलासपुर नहीं आने की सूचना पर अंत कालोनीवासियों को खाली हाथ ही घर लौटना पड़ा। लेकिन इस दौरान लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों की हवाइयां उड़ती रही।

विवादों की कालोनी

                      देवरीखुर्द स्थित हाउसिंग बोर्ड कालोनी अपने निर्माण काल के समय से ही विवादों में रहा है। तत्कालीन समय इसकी शिकायत भी की गई थी। लेकिन अधिकारियों  से मिलकर ठेकेदारों ने रफा दफा कर दिया। आज सिर्फ 15 साल में हाउसिंग बोर्ड के सारे मकान खंडहर में तब्दील हो चुके हैं। जो खाली मकान हैं वहां असामाजिक तत्वों की महफिल सजती है। शिकायत के बाद भी प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है।

                                                                                                   कालोनी अध्यक्ष,हाउसिंग बोर्ड कालोनी देवरीखुर्द

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS