मस्तूरी के बुजुर्गों को नहीं मिली पेंशन

adhar_bspबिलासपुर— मस्तुरी विकासखंड के ग्राम पंचायत पोड़ी के बृद्धों ने कलेक्टर से पेंशन नहीं मिलने की शिकायत की है। सभी बृद्ध सरपंच के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे थे। सरपंच ने बताया कि आधार कार्ड देने के बाद भी सीडिंग नही हुई। जिसके कारण वृद्धों का पेंशन अभी नहीं मिला है।पंचायत पोड़ी के 60 से अधिक बृद्ध पुरूष और वृद्ध महिलाएं सरपंच के कलेक्ट्रेट पहुंचकर पेंशन की गुहार लगाी है। सरपंच रामकुमार के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे वृद्ध महिलाओं ने बताया कि वृद्धा पेंशन 350 रूपए मिलता है। बुढापे में पेंशन एक मात्र सहारा है। पिछले 11 महीन से पेंशन की राशि नही मिली है। जिसके कारण उन्हें भारी परेशानी हो रही है। जरूरत का सामान और दवा भी नहीं खरीद पा रहे हैं। सरपंच से कई बार पूछा लेकिन उसने पेंशन देने से इंकार कर दिया।

                                 सरपंच रामकुमार बताया कि गांव में करीब 160 से अधिक वृद्ध हैं। उम्र अधिक होने के कारण वे लोग काम काज भी नहीं करते हैं। उनका माली हालत भी ठीक नहीं है। वृद्धा पेंशन इनका एक मात्र सहारा है। कई बुजुर्गों की हालत बहुत खराब है। लंबे समय से बीमार भी हैं। पेंशन नहीं मिलने से दवा भी नहीं खरीद पा रहे हैं।

                                   रामकुमार ने बताया कि ग्राम पंचायत और विकासखंड कार्यालय में पेंशन का भुगतान नही होने की मुख्य वजह आधार का सीडिंग नही होना है। जबकि सभी हितग्राही एक बार आधार कार्ड दे चुके हैं। बावजूद इसके आधार सीडिंग का काम नहीं हुआ है।

                                 सरपंच ने बताया कि कुछ दिनों पहले ही जिला पंचायत  सीईओ ने वृद्धा पेंशन के लिए सभी हितग्राहियों को आधार से सीडिंग करने को कहा था।  मालूम हो मस्तुरी विकासखंडमें 1 करोड़ से अधिक राशि का पेंशन घोटाला सामने आया था। जांच के बाद कलेक्टर ने पेंशन घोटाले में शामिल तीन सरपंच को बर्खातस्त कर दिया था। मस्तूरी जनपद पंचायत में कार्यरत महिला बाबू को निलंबित कर दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *