मेरा बिलासपुर

मस्तूरी पलिस ने किया हत्या का खुलासा

IMG-20160708-WA0185बिलासपुर—मस्तुरी पुलिस ने दो साल पुराने हत्याकाण्ड मामले को सुलझा लिया है। पुलिस ने आरोपी पत्नी और मृतक बड़े भाई को गिरफ्तार किया है। युवक की हत्या अवैध संबंध को लेकर गयी थी। पुलिस को गुत्थी सुलझाने में डीएनए जांच का सहारा लेना पड़़ा।

                         बिलासागु़ड़ी में प्रेसवार्ता में पुलिस ने दो साल पहले मस्तूरी ह्त्याकाण्ड की गुत्थी को सुलझाने का दावा किया है। पुलिस के अनुसार तीन अक्टूबर को राजभान जायसी ने बताया कि पेण्ड्री के बहराखार नाले में बोरे के अन्दर लाश मिली है। सूचना मिलते ही मस्तुरी पुलिस ने मौके पर पहुंचकर मामले को संज्ञान में लिया। पंचनामा के दौरान मालूम हुआ कि सड़ी गली लाश किसी 20- 25 साल के युवक की है।

                                आस-पास के क्षेत्र में गुम इंसान का पता लगाया गया। लेकिन पुलिस को कोई सफलता नहीं मिली। इसी दौरान पुलिस को सूचना मिली कि गांव का एक युवक किशन कुर्रे पिता कलाराम कुर्रे गायब है। बताये गए हुलिये के अनुसार उसकी कदकाठी बिलकुल लाश से मिलती जुलती है। जानकारी के बाद पुलिस ने किशन की पत्नी से संपर्क किया।जागृति ने बताया कि उसका पति जिंदा है कमाने खाने बाहर गया हुआ है। इसके अलावा उसने कोई जानकारी नहीं दी।

                    पुलिस ने बयान को संदिग्ध मानते हुए किशन के पिता,बेटा और मृतक का डीएनए सैंपल हैदाराबाद भेजा। डीएनए रिपोर्ट में मृतक का डीएनए किशन के बेटे और पिता से मैच होना बताया गया। जाहिर सी बात है कि मृतक कोई और नहीं बल्कि किशन ही था।रिपोर्ट मिलने के बाद पुलिस ने किशन की पत्नी जागृति और उसके बड़े भाई का अलग अलग फिर से बयान लिया। पूछताछ में दोनों टूट गए। मामला अवैध संबध का सामने आया।

पुलिस हिरासत में अन्तर्राज्यी चोर...लाखों रूपए बरामद

प्रेसवार्ता में पुलिस अधिकारी ने बताया कि किशन की पत्नी जागृति और बड़े भाई कमलेश के बीच अवैध संबध थे। दोनो ने मिलकर किशन की हत्या की है। पूछताछ में पत्नी और किशन के बड़े भाई ने बताया किशन शराबी था। पत्नी से उसकी बनती नहीं थी। जबिक कमलेश की पत्नी हमेशा बीमार रहती थी। दोनों अपने संबधों को लेकर काफी दुखी थे। धीरे धीरे दोनों में शारीरिक संबध बन गए।एक साल तक सब कुछ ठीक चलता रहा गणेश चतुर्थी के दिन किशन ने पत्नी जागृति और बड़े भाई कमलेश को आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ लिया। उस समय भी किशन नशे में धुत्त था।

अवैध रिश्ते को छिपाने के लिए किशन के सिर पर डण्डे से वार कर दिया। कमलेश ने किशन के गले पर टंगिया से वार कर मौत के घाट उतार दिया। दोनों ने प्रमाण छिपाने के लिए मौके पर गोबर से लिपाई पुताई की। बाद में लाश को बोरे में भर कर बहरानाला में फेक दिया।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आरोपियों ने साक्ष्य छिपाने में सफल भी हो गए। लेकिन डीएनए रिपोर्ट ने सब कुछ पानी का पानी और दूध का दूध कर दिया। ।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS