मेरा बिलासपुर

कांग्रेसियों का महापौर को चूड़़ी भेंट

IMG-20160927-WA0147बिलासपुर– छः महीने से भुगतान नहीं होने से बिलासपुर अब कचरापुर बन गया है। मोदी के सफाई अभियान को बिलासपुर में करारा झटका लगा है। ठेकेदारों ने पांच दिन से सड़क पर झाड़ू नहीं चलने दिkishor rayया है। नाराज ठेकेदारों ने दूसरे दिन भी महापौर कार्यालय का घेराव किया। दूसरी तरफ शहर की बदहाल सफाई व्यवस्था से नाराज कांंग्रेस पार्षदों ने आज महापौर को सप्रेम भेंट में चूड़ी दी है। कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन कर महापौर को मिट्टी का माथो बताया है।

                           नगर निगम नेता प्रतिपक्ष शेख नजीरूद्दीन की अगुवाई में कांग्रेस पार्षदों ने आज महापौर की अनुस्थित में चूड़ी भेंट प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेस पार्षद दल के प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल, पंचराम सूर्यवंशी, दीपांशु श्रीवास्तव, अखिलेश चंद्रप्रदीप बाजपेयी, रामा बघेल, राजेश शर्मा, एलएन राव , जुगल किशोर गोयल, तैयब हुसैन समेत सभी कांग्रेसी पार्षद मौजूद थे।

                        केबिन में महापौर को नहीं पाकर कांग्रेस पार्षदों ने जमकर हंगामा मचाया। सभी ने महापौर किशोर राय और नगरीय निकाय मंत्री अमरअग्रवाल के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।  नाराज कांग्रेस पार्षदों ने महापौर किशोर राय के टेबल पर चूड़ी रखकर विरोध प्रदर्शन किया। टीेएल बैठक में होने के कारण कांग्रेस पार्षदों की मुलाकात निगम आयुक्त सौमिल रंजन चौबे से नहीं हो पायी।

                       उपायुक्त मिथलेश अवस्थी से मिलकर नेता प्रतिपक्ष शेख नजीरूद्दीन ने कहा कि पांच दिन से शहर कचरे के ढेर पर बैठा है। ठेकेदार हड़ताल पर है  निगम प्रशासन ने साफ सफाई के लिए किसी प्रकार की वैकल्पिक व्यवस्था अभी तक क्यों नहीं की है। क्या निगम आयुक्त और महापौर को महामारी का इंतजार है।

निकाय मंत्री की मैराथन बैठक,सहायक अभियंता के गैरहाज़िर रहने पर किया सस्पैंड,संयुक्त संचालक-सीएमओ को कारण बताओ नोटिस

कचरा विकास भवन में होगा डंपSMART_CITY_BITE_SHAILENDRA 005

                   कांग्रेस पार्षद दल प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल ने बताया की महापौर को निगम में गंभीरता से कोई नहीं लेता है। इसलिए हमने उन्हें चूड़ी भेंट किया है। भगवान उन्हें सदबुद्धी दे। चूड़ी भेंटकर उनकी सोई हुई शक्ति को जगाने का प्रयास हमने किया है। ठेकेदारों को पिछले छःमहीनों से भुगतान नहीं हुआ है। सामने दो बड़े त्योहार हैं। बारिश का मौसम है। सफाई नहीं होने से महामारी का खतरा है। शैलेन्द्र ने बताया कि सफाई का ठेका भाजपा नेताओं के हाथ में है। बावजूद इसके शहर की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो चुकी है। निगम को भाजपा नेताओं ने खोखला कर दिया है। जाहिर सी बात है जब खजाने में ही पैसे नहीं होंगे तो भुगतान कहां से होगा।

                  शैलेन्द्र ने बताया कि दो एक दिन में सफाई व्यवस्था को बहाल नहीं किया गया कांग्रेस पार्षद अपने खर्च पर वार्डों की सफाई करेगा। लेकिन कचरा विकास भवन में डंप किया जाएगा।

टास्क भर्ती करेंगे

                                उपायुक्त मिथिलेश अवस्थी ने बताया कि स्वास्थ्य अधिकारी को टास्क भर्ती करने के लिए कहा गया है। सफाई व्यवस्था को ठीक कर लिया जाएगा। कांग्रेस पार्षद तैयब हुसैन ने टास्क भर्ती का विरोध करते हुए कहा कि जब राज्य शासन ने  टास्क भर्ती प्रतिबंध लगा दिया है तो किस आधार पर निगम में टास्क भर्ती का काम किया जाएगा। तैयब ने कहा कि तीन दिन बाद नवरात्रि पर्व शुरू होने जा रहा है। पर्व के पहले निगम शहर से कचरा उठवाने की व्यवस्था करें। अन्यथा शहर का एक-एक कचरा विकास भवन में नजर आएगा।

कर्ज से परेशान व्यक्ति ने चलाई खुद पर गोली

निगम का खजाना खाली

                        निगम लेखाधिकारी अविनाश बापते ने बताया कि इस समय निगम का कोष खाली है। जैसे ही फंड में रूपए आते हैं सफाई ठेकेदारों को भुगतान किया जाएगा। बापते ने बताया कि इस बार वसूली भी कम हुई है। वसूली अभियान को तेज किया जाएगा। सभी बीएलओं को मामले को गंभीरता के साथ लेने को कहा गया है। उम्मीद है कि कुछ दिनों में कोष में पर्याप्त राशि होगी। ठेकेदारों का भुगतान भी होगा।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS