महापौर का घेराव..आंदोलन की चेतावनी

IMG_20151215_152947बिलासपुर– कांग्रेस नेताओं ने नगर निगम के गुणवत्ताहीन निर्माण कार्य और इंजीनियरों की शिकायतों को लेकर आज महापौर का घेराव किया। कांग्रेस नेताओं ने निगम प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए कहा कि महापौर और निगम कर्मचारियों की लापरवाही के चलते करोड़ों रूपयों की राशि भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही है।

                        कांग्रेस नेताओं ने आज निगम नेता प्रतिपक्ष शेष नजरूद्दीन और वरिष्ठ कांग्रेस नेता अभय नारायण की अगुवाई में  महापौर का घेराव किया। कांग्रेस नेताओं ने बताया कि नगर निगम में इस समय जो भी काम हो रहे हैं उनमें गुणवत्ता को नजरअंदाज किया जा रहा है। गुणवत्ता की जांच भी नहीं हो रही है। इंजीनियरों से मिली भगत कर ठेंकेदार निर्माण कार्यों में दोयम दर्जे की सामाग्री का प्रयोग कर रहे हैं।

            शेख नजरूद्दीन ने बताया कि निर्माण कार्यों की निगरानी इंजीनियरों की जिम्मेदारी में शामिल है। निर्माण सामाग्री का परीक्षण लैब में किया जाना जरूरी होता है। लेकिन इजीनियर अपने मूलभूत काम को छोड़कर ठेकेदारों से यारी निभा रहे हैं। उन्होंने बताया कि शासन को दिए गए दस करोड़ रूपए के कार्य का भी टेंडर अभी तक नहीं किया गया है। इसके चलते भी वार्डों में जनहित के कई निर्माण कार्य लटके हैं।

                         निगम नेता प्रतिपक्ष ने बताया कि यदि कार्यों की गुणवत्ता की निगरानी नहीं की जाएगी तो राशि भी ठेकेदारों और इंजीनियरों के जेब में चली जाएगी।

                कांग्रेस पार्षद दल के प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल ने बताया कि महापौर से मिलकर हमने साफ तौर से आगाह किया है कि व्यापार विहार में निर्माणधीन नाला निर्माण में घोर अनियमितता हो रही है। जिसकी जांच की जरूरत है। उन्होने बताया कि पूर्व में बनाए गए नाले पर लाखों रूपए का टेंडर पास कर भ्रष्टाचार किया जा रहा है। यदि जांच नहीं होगी तो कांग्रेस हमेशा की तरह भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग लेने को तैयार है।

                         महापौर से मिलकर कांग्रेस नेताओं ने निर्माणाधीन कार्यों की मानिटिरिंग के लिए समिति बनाए जाने की मांग की है। कांग्रेस पार्षदों ने घटिया निर्माण के लिए जिम्मेदार इंजीनियर को तत्काल निलंबित करते हुए ठेकेदार काली सूची में डालने की बात की है। शेख नजरूद्दीन ने बताया कि यदि महापौर और आयु्क्त ऐसा नहीं करते हैं तो कांग्रेस के लिए तैयार है।

शिकायत की होगी जांच

kishor ray                इंजीनियर मानिटरिंग कर रहे हैं। ठेकेदार अपना काम कर रहे हैं। यदि मिलीभगत की बात सामने आती है तो किसी को नहीं छोड़ा जाएगा। दस करोड़ की राशि निगम के विभिन्न वार्डों के विकास में खर्च होंगे। निश्चित प्रक्रिया के तहत टेंडर निकाला जाएगा। इसके बाद विकास कार्यों को आगे बढ़ाया जाएगा। कांग्रेस का काम आंदोलन करना है। विकास हमारी जिम्मेदारी है। रही बात व्यापार विहार स्थित नाला निर्माण में भ्रष्टाचार की शिकायत तो उसको मैं व्यक्तिगत रूप से संज्ञान में लेते हुए निगरानी करूंगा। लेकिन किसी भी सूरत में भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचारियों को माफ नहीं किया जाएगा।

                                                                                                  किशोर राय,महापौर,नगर निगम बिलासपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *