हमार छ्त्तीसगढ़

महासमुंद, जगदलपुर और सूरजपुर में पशुचिकित्सा पॉलीटेक्निक

animal

रायपुर।पशु चिकित्सा और पशुपालन की पढ़ाई के लिए छत्तीगसढ़ में चालू शिक्षा सत्र 2015-16 में तीन विशेष पॉलीटेक्निक संस्थान विधिवत शुरू हो जाएंगे। राज्य शासन ने इनके लिए प्रवेश नियमों और पाठयक्रमों की स्वीकृति प्रदान कर दी है। छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय के अन्तर्गत ये तीनों पशुचिकित्सा पॉलीटेक्निक महासमुंद, जगदलपुर और नवगठित सूरजपुर जिले में शुरू किए जा रहे हैं। छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय की स्थापना के तीन वर्ष के भीतर तीन नये पशुचिकित्सा पॉलीटेक्निक संस्थानों की शुरूआत हो रही  है। इनमें दो वर्षीय डिप्लोमा पाठयक्रम (डिप्लोमा इन-एनीमल हसबैंड्री) शुरू किया जा रहा है। तीनों संस्थानों में छत्तीसगढ़ के मूलनिवासी 17 वर्ष से 22 वर्ष तक आयु समूह के उन युवाओं को प्रवेश दिया जाएगा, जिन्होंने भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीवविज्ञान विषयों के साथ बारहवीं बोर्ड की परीक्षा उत्तीर्ण की है।

विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने बताया कि फिलहाल 180 सीटों में शिक्षा सत्र 2015-16 के लिए प्रवेश शुरू किया जाएगा। प्रत्येक संस्थान में 60 सीटें मंजूर की गयी हैं। उन्होंने बताया कि महासमुंद में पशुचिकित्सा पॉलीटेक्निक जिला मुख्यालय से आठ किलोमीटर की दूरी पर ग्राम बरोंडा बाजार में शुरू किया जा रहा है। इसका संचालन वहां सहायक पशुचिकित्सा क्षेत्र अधिकारी प्रशिक्षण केन्द्र के भवन में किया जाएगा। संस्था में 75 सीटों वाले प्रशिक्षण कक्ष सहित 40 सीटों का एक सुसज्जित सभाकक्ष, पचास सीटों का पुरूष छात्रावास, 25 सीटों का महिला छात्रावास भी उपलब्ध है। इसके अलावा 25 सीटों की एक बस सुविधा भी छात्र-छात्राओं की दी जाएगी। पुस्तकालय भवन सहित आधुनिक प्रशिक्षण उपकरण, प्रयोगशाला और ऑडियो विजुअल सामग्री भी वहां प्रशिक्षण के लिए उपलब्ध है। जगदलपुर (बस्तर) में पशुचिकित्सा पॉलीटेक्निक बस्तर एकीकृत पशुधन विकास प्रशिक्षण केन्द्र के भवन मे संचालित किया जाएगा। वहां पर 60 सीटों वाले दो प्रशिक्षण कक्ष, 20 सीटों वाले छात्रावास सहित पुस्तकालय भवन, प्रशिक्षण के लिए आधुनिक उपकरण, प्रयोगशाला आदि सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध हैं।
अधिकारियों ने बताया कि नवगठित सूरजपुर जिले में पशुचिकित्सा पॉलीटेक्निक संस्थान जिला मुख्यालय में फिलहाल किराए के भवन में संचालित किया जाएगा। संस्थान के भवन निर्माण के लिए वहां सूरजपुर शहर के नजदीक पांच एकड़  जमीन चिन्हांकित कर ली गयी है। राज्य सरकार ने प्रत्येक पशुचिकित्सा पॉलीटेक्निक संस्थान के लिए प्राचार्य सहित चार सहायक प्राध्यापकों के पद स्वीकृत कर दिए हैं।  इस बारे में अधिक जानकारी के लिए छत्तीसगढ़ कामधेनु विश्वविद्यालय के निदेशक डॉ. पी.एल. चौधरी से उनके मोबाईल नम्बर 094247-65836 पर अथवा पशुचिकित्सा पॉलीटेक्निक महासमुंद के प्रभारी प्राचार्य डॉ. रामचंद्र रामटेके से उनके मोबाईल नम्बर 093295-83360 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

IAS अफसरों की नवीन पदस्थापना,सोनमणि बोरा लेबर सिकरेट्री, चंपावत को पीएचई का जिम्मा

 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS