हमार छ्त्तीसगढ़

महासमुंद-शहर का नजारा आज कुछ बदला-बदला नज़र आया

महासमुंद-महासमुंद शहर सहित पूरे जिले का नजारा कुछ बदला-बदला नज़र आया।आज शनिवार को सरकारी छुट्टी होने के बावजूद अधिकांश सरकारी दफ़्तरों, स्कूल, शाला,आश्रम-छात्रावासों. अस्पताल की खुली ज़मीनो पर चारों तरफ़ हरियाली नज़र आयी।वृक्षारोपण द्वितीय चरण इसका कारण था । जिले के सभी आला अफ़सरों, अधिकारियों-कर्मचारियों से लेकर जनप्रतिनिधियो, गणमान्य नागरिकों. स्कूल-कालेज के विद्यार्थियों ने बड़े उत्साह के साथ विभिन्न प्रजातियो के फलदार और छायादार पौधें लगायें । कही -कही छोटे बच्चे बड़े उत्साहके साथ भी पौधे लगाते दिखे । विकासखंड, ग्रामों पंचयतो में जनप्रतिनिधियो ने ग्रामवासियों के साथ वृक्षारोपण किया।CGWALL NEWS के व्हाट्सएप न्यूज़ ग्रुप से जुडने के लिए यहा क्लिक कीजिये

कलेक्टर कार्तिकेया गोयल, जिला अस्पताल परिसर में ओषधियुक्त अमला को पौधा लगाया वहीं पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने नीम और मुख्य कार्यपालन अधिकारी ज़िला पंचायत डाॅ. रवि मित्तल ने फलदार अमरूद का पौधा रोपित किया । वनमण्डलाधिकारी श्री मयंक पाण्डेय, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. एस.पी. वारे ने भी कटहल, मुनगा लगाया । सभी ने पौधरोपण कर शहरवासियों और जिलेवसियों को अपने क्षेत्र, शहर को हराभरा रखने का संदेश दिया।

इस अवसर पर कलेक्टर ने कहा कि हरियाली के लिए पौधरोपण बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को जीवन में एक पौधा लगाकर उसका संरक्षण करना चाहिए । इससे हरियाली बनी रहेगी। हम सब की नैतिक जिम्मेदारी हैं कि पौधें को अपने बच्चों की तरह संवार कर रखें, जिससे पौधें बड़े होकर हम सभी लोगों के लिए काम आए। पुलिस अधीक्षक श्री प्रफुल्ल कुमार ठाकुर ने बताया कि जिले के सभी थानें एवं लाईन में पौध रोपण करने के लिए लक्ष्य दिए गए हैं। सभी के संयुक्त प्रयास से पर्यावरण संतुलन को बनाए रखने के लिए पौध रोपण किया जा रहा हैं। पुलिस जवानों द्वारा लगाएं गए पौधंे सुरक्षित बड़े होते हैं, तो उन्हें आगामी समय में पुरष्कृत किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ में डाक्टरों और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा के लिए बनेगा विशेष कानून-सिंहदेव

वनमण्डलाधिकारी मयंक पाण्डेय ने बताया कि अभियान के तीसरे चरण में 20 जुलाई को हरेली तिहार के दिन पौधारोपण किया जाएगा, जिसमें जिले के गोठान, चारागाह स्थलों में छायादार और फलदार पौधे रोपण किए जाएंगे। जिले में 74 विभिन्न प्रजातियों के पौधे वन विभाग की नर्सरी में तैयार कर लिए है। इसके अलावा उद्यानिकी विभाग के नर्सरी में भी पौधे तैयार है। मनरेगा से पौधे तैयार कर निःशुल्क पौधा वितरण किया जा रहा है ।उन्होंने बताया कि द्वितीय चरण में जिले में आज सीडबाल रोपण वन एवं वनोत्तर क्षेत्रों में फलदार वृक्ष एवं सब्जी बीज का छिड़काव तथा अन्य विभागों के माध्यम से वृक्षारोपण किया जा रहा हैं। अन्य विभागों को वृक्षारोपण के लिए लगभग एक लाख 74 हजार पौधें, एक हजार किलोग्राम फलदार बीज, 200 किलोग्राम सब्जी बीज एवं एक लाख नग सीडबाल की बुआई जनप्रतिनिधियों एवं विभागीय अधिकारियों, गणमान्य नागरिकों, स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा किया जाएगा। इसके अतिरिक्त वन विभाग द्वारा लगभग आठ लाख पौधें का रोपण किया जाएगा। जिसमें अब तक पाॅॅच लाख पौधें रोपित किए जा चुके हैं। पौध रोपण का कार्य निरन्तर जारी हैं।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS