महिलाओं और कांग्रेसियों का पावरफुल ड्रामा..प्रशासन बैण्ड

IMG20170302133529  IMG20170302132609बिलासपुर—जिला कांग्रेस ग्रामीण अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला की अगुवाई में तिफरा और बोदरी के ग्रामीणों ने पूर्ण शराबबंदी को लेकर कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया। घेराव कार्यक्रम में कांग्रेस के बडे नेताओं ने भी किया। राजेन्द्र शुक्ला और ग्रामीणों ने कलेक्टर परिसर में प्रवेश नहीं दिए जाने पर पुलिस प्रशासन का कड़ा विरोध किया।

                नाराज ग्रामीण महिला और पुरूषों ने करीब आधे घंटे तक सड़क पर धरना प्रदर्शन कर यातायात को जाम कर दिया। मजबूर होकर जिला प्रशासन को कलेक्टर परिसर से बाहर आकर सड़क पर ही ज्ञापन लेने को मजबूर होना पडा।

                              कलेक्टर कार्यालय घेराव के पहले राजेन्द्र शुक्ला की अगुवाई में पूर्ण शराबबंदी को लेकर कांग्रेसियों ने ग्रामीण महिलाओं के साथ नेहरू चौक से रैली निकाली। रैली में कांग्रेस नेताओं के अलावा तिफरा और बोदरी की महिलाएं बड़ी संख्या में शामिल हुईं। कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर रैली को कलेक्टर परिसर में प्रवेश नहीं करने दिया गया। पुलिस प्रशासन ने गेट पर ताला लगा दिया। नाराज कांग्रेसियों ने प्रवेश को लेकर जमकर हंगामा मचाया। महिलाओं की भीड़ ने गेट तोड़ने का भी प्रयास किया। भीड़ को नियंत्रित करने पुलिस प्रशासन को जमकर पसीना बहाना पड़ा। यद्यपि सिटी मजिस्ट्रेट लकड़ा और आईपीएस शलभ सिन्हा ने कहा कि दस लोग अन्दर आकर ज्ञापन दे सकते हैं। लेकिन राजेन्द्र शुक्ला और उनके समर्थकों ने इसका जमकर विरोध किया।

                      IMG20170302131644  प्रवेश को लेकर पुलिस प्रशासन से राजेन्द्र शुक्ला समेत समर्थकों में जमकर वाद विवाद हुआ। नाराज कांग्रेसी और ग्रामीण महिलाओं ने बीच स़ड़क पर धरना देकर करीब यातायात को आधे घंटे तक जाम कर दिया। जिला ग्रामीण कांग्रेस अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला,शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर,निगम नेता प्रतिपक्ष शेख नजरूद्दीन ने तानाशाही का आरोप लगाते हुए प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

                      उग्र भीड़ को नियंत्रित करने थकहार कर जिला प्रशासन को बीच सड़क में कांग्रेसियों से ज्ञापन लेना पड़ा। मन्नाडोल की पार्षद रूखमणी यादव ने सिटी मजिस्ट्रेट से कहा कि या तो सरकार शराबबंद कर दे या फिर महिलाओं को राशन के साथ जहर की पुड़़िया बांटे। इसके बाद सरकार की चिंता दूर हो जाएगी। हमें शराबियों से निजात मिल जाएगी। सड़क पर बैठी महिलाओं ने कहा कि एक किलो रूपए में चावल देकर सरकार अहसान नहीं कर रही है। राशन कार्ड से नाम काटे जा रहे हैं। जिन्दगी बरबाद करने शराब पिलाया जा रहा है। शराब ने हमारे सुख चैन को छीन लिया है।

                                          कांग्रेस के हाई ड्रामा कार्यक्रम में शेख नाजिरुदीन, शहर अध्यक्ष नरेंद्र बोलर, जिला महामंत्री अनिल सिंह चौहान,शैलेन्द्र जायसवाल , अभिषेक सिंह (राजा) , तिफरा नेता प्रतिपक्ष शिव यादव,पार्षद भागवत श्रीवास , शिव यादव, पंचराम सूर्यवंशी , रामायण रजक , जोन प्रभारी अमित यादव ,जिला सचिव  मनोज पाण्डेय , शहर सचिव उमेश कश्यप , बिल्हा ब्लॉक महामंत्री अशोक जोतवानी ,युंका प्रदेश उपाध्यक्ष महेंद्र गंगोत्री ,प्रदेश  सचिव लक्ष्मीनाथ साहू ,जिला महासचिव गोपाल दुबे ,बिल्हा विधानसभा अध्यक्ष  पुष्पराज उपाध्याय, बिलासपुर विधानसभा IMG20170302133126अध्यक्ष  शिवा नायडू ,गोपाल सिंह ठाकुर और बड़ी संख्या तिफरा के आम लोग शामिल हुए।

नहीं चाहिए शराब

                      कांग्रेस नेता राजेन्द्र शुक्ला ने कहा कि जब देश की आधी आबादी शराब बंद की मांग कर रही है तो सरकार को पूर्ण शराबबंदी से पीछे नहीं हटना चाहिए। शराब ने समाज और परिवार को तोड़कर रख दिया है। शराब का सबसे ज्यादा दुष्प्रभाव महिलाओं पर ही होता है। बलात्कार,हत्या, लूटपाट की सबसे अधिक शिकार महिलाएं ही होती हैं। जब जनता ही चाहती है तो पूर्ण शराबबन्दी से सरकार पीछे क्यों हट रही है। राजेन्द् शुक्ला ने कहा कि महिलाओं ने तय कर लिया है कि तिफरा और जिले में कहीं भी शराब दुकान खोलने नहीं दिया जाएगा। ग्रामीण महिलाओं की कांग्रेस पार्टी सहयोग करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *