मारपीट में घायल युवक की मौत के बाद…फरार 4 आरोपियों को पकड़ा गया…सभी न्यायिक रिमाण्ड में जेल दाखिल

बिलासपुर— छठघाट में गणेश विसर्जन के दौरान मारपीट के फरार आरोपियों को पुलिस ने धर दबोचा है। मारपीट के दौरान एक युवक को गंभीर चोट पहुंची थी। बाद में इलाज के दौरान रायपुर में उसकी मौत हो गयी। बिलासपुर पुलिस ने मामले में तत्काल दो आरोपियों को धर दबोचा था। फरार चार अन्य आरोपियों को पुलिस ने बुधवार को न्यायालय के हवाले किया है। बताया जा रहा है कि जल्द ही फरार अन्य आरोपियों को भी पकड़ लिया जाएगा।

                    एडिश्नल एसपी ओमप्रकाश शर्मा ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि सरकंडा थाना क्षेत्र के छठघाट में गणेश विसर्जन के दौरान दो गुटों में लड़ाई हो गयी। एक युवक को तलवार लगने से सिर में गंभीर चोट पहुंची। बाद में उसने रायपुर में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया।

                          ओपी शर्मा ने बताया कि 16 सितम्बर को राजकिशोर नगर तुलसी आवास के लोगों ने सरकन्डा थाना पहुंचकर आरोपियों के खिलाफ शिकायत की थी। लोगों ने बताया कि सभी लोग गणेश विसर्जन करने छठघाट जा रहे थे। उसी समय मोटरसायकल पर सवार कौशल यादव, सोमू सोनकर, मोन्टू यादव और उसके साथी जाने के लिए साडड मांगे। साइड मिलने के बाद भी लोगो ने गाली गलौच और जमकर विवाद किया। समझाने के बाद सभी लोग चले गए।

              कुछ देर बाद कौशल यादव,राजा मेन्डे, सोमू सोनकर, मोन्टू यादव,मोहन यादव और रूपेश चौबे अपने साथियों के साथ छठघाट पहुंचे। और गाली गलौच करते हुए हाकी,डंन्डा,तलवार से हमला किया। हमले में रिंकू गुप्ता के सिर में गंभीर चोट पहुंची। इसके बाद उसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया।

                          शिकायत के बाद सरकण्डा थाना में सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 294,506,307,323,34 आईपीसी के तहत अपराध दर्ज किया गया। पुलिस कप्तान के निर्देश पर तत्काल कार्रवाई कर कौशल यादव और राजा मेंडे को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया। बाकी सभी आरोपी फरार चल रहे थे।

                           इस बीच 27 अक्टूबर को घटना में घायल रिंकू ऊर्फ विकास गुप्ता की उपचार के दौरान रायपुर में मौत हो गयी। पुलिस कप्तान ने फरार आरोपियों को पकड़ने का सख्त निर्देश दिया। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने रूपेश चौबे ऊर्फ रक्कू को कवर्धा जिले के उमरिया गांव में धर दबोचा। इसके अलावा सोमू सोनकर ऊर्फ अंकित गोलो, मोन्टू यादव ऊर्फ सतीश यादव और मोहन यादव को अलग अलग स्थानों से हिरासत में लिया गया। जबकि अन्य आरोपी अभी भी फरार है। पुलिस का दावा है कि फरार आरोपियों को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

            एडिश्नल एसपी ओपी शर्मा ने बताया कि आरोपियों की निशानदेही पर मारपीट में उपयोग किए गए तलवार,डंडा, लकड़ी,बत्ता को जब्त किया गया है। सभी आरोपियों को न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *