मेरा बिलासपुर

मासूम को गोद लेने..लोंगों का तांता

childबिलासपुर—मस्तूरी थाना क्षेत्र के किसान परसदा स्थित तालाब की मेड़ पर मिली मासूम बच्ची की लगातार इलाज के बाद भी हालत बहुत नाजुक बनी हुई है। सिम्स चिकित्साक बच्ची को बचाने भरसक प्रयास कर रहे हैं। बावजूद बच्ची की हाल सुधर नहीं रही है। चिकित्सकों ने बताया कि बच्ची का वजन 1 किलो 400 ग्राम है। बच्ची के शरीर में संक्रमण फैल गया है। पीलिया की चपेट में भी आ गयी है।

                                मस्तूरी थाना क्षेत्र के किसान परसदा में दो दिन की नवजात बच्ची को मां ने तालाब की मेड़ पर छोड़ दिया। गांव का एक व्यक्ति बच्ची को बच्ची को अपने घर ले गया। सरपंच की सूचना पर पुलिस ने बच्ची को कब्जे में लेकर तीन दिन पहले सिम्स में दाखिल कराया। चिकित्सकों की टीम बच्ची के स्वास्थ्य पर लगातार नजर बनाए हुए है। एक दिन पहले डाक्टरों ने बताया कि बच्ची को संक्रमण हो गया है। शिशु विभाग के गहनचिकित्सा कक्ष में उसका इलाज किया जा रहा है।

                 पीडियाट्रिक विभाग के प्रमुख ने बताया कि सिम्स में दाखिला के समय बच्ची का वजन 1 किलो 4 सौ ग्राम था। बच्ची को कीचड़ में फेंका गया था। इसके चलते उसका शरीर भयंकर संक्रमण की चपेट में है। वह ठीक होगी या नहीं बताना मुश्किल है।

                       शिशुरोग विभाग के प्रमुख कोसम ने बताया कि बच्ची को गोद लेने मस्तूरी और बिलासपुर के कई लोग सिम्स पहुंच रहे हैं। सबको कलेक्टर से मिलकर बात करने को कहा गया है। एचओडी अजय कोसम ने बताया कि सिम्स को बच्चों को गोद लेने और देने का अधिकार नहीं है। गोद लेने और देने की कार्रवाई कलेक्टोरेट से होती है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS