मास्टरमाइंड दिव्यांग समेत हिरासत में दो आरोपी

IMG-20170306-WA0012 DSC_0006 बिलासपुर— पुलिस की स्पेशल टीम ने एक दिन पहले बीआर प्लाजा के सामने स्कूटी से रूपए से भरे बैग को पार करने वाले तीन आरोपियों को हिरासत में लिया है। बताया जा रहा है कि सभी आरोपी पेशेवर बदमाश है। आरोपियों के पास से चोरी की मंहगी मोबाइल, कीमती कैमरा के अलावा नगद समेत स्कूटी बरामद हुआ है।  पुलिस के अनुसार सभी आरोपी तालापारा के रहने वाले हैं। चोरी का मास्टर माइंड चलने फिरने से लाचार है।

                                                    पुलिस की स्पेशल टीम ने नोट से भरे बैग को पार करने वाले सभी आरोपियों को हिरासत में लिया है। आरोपियों से नगद समेत चोरी के सामान भी बरामद किये गये हैं। चकरभाठा निवासी सुनील नागदेव ने रविवार को तारबाहर थाने में शिकायत की थी किसी ने उसकी स्कूटी की डिग्गी से बैग पार कर दिया है..बैग में 98500 रूपए थे। सुनील ने पुलिस को बताया कि तेलीपारा में उसका इलेक्टानिक का दुकान है। दुकान जाते समय अपने दोस्त से मिलने स्कूटी बाहर खड़ा कर बीआर प्लाजा गया। करीब एक घंटे बाद बाहर आया और स्कूटी लेकर चकरभाठा चला गया। घर पहुंंचने के बाद जब डिग्गी खोला तो नोट से भरा बैग नहीं दिखाई दिया। इसके बार तुरंत तारबाहर थाना आकर चोरी की शिकायत की।

                                     शलभ सिन्हा ने पत्रकारों को बताया कि पुलिस ने तत्काल छानबीन कर प्लाजा के आसपास सीसीटीवी फुटेज को एकत्रित किया। मुखबिर ने बताया कि तालापारा में एक एक लड़का साथियों के साथ सीसीटीवी फुटेज के अनुसार ज्यूपीटर में घूम रहा है। पुलिस ने तुरंत धरपकड़ कर गुलशन खान पिता रज्जाक उर्फ रज्जू खान को हिरासत में लिया। गुलशन की निशानदेही पर वारदात में शामिल दो अन्य लोग सागर उर्फ गोलू पिता सूरज चतुर्रवेदानी तालापारा शेख साजिद ऊर्फ सोनू को हिरासत में लिया। शेख साजिद कटघोरा का रहने वाला है। गुलशन के घर किराए में रहता है। शेखे साजिद कुछ दिन पहले वेटर का काम करता था। इन दिनों वह बेरोजगार है।

        DSC_0005    शलभ सिन्हा ने बताया कि पूछताछ के बाद तीनों ने अपराध करना स्वीकार कर लिया है। आरोपियों के पास छानबीन के दौरान चोरी के 98500 रूपए में 82500 रूपए बरामद कर लिया गया है। शेख साजिद और गोलू ने बताया कि मास्टरमाइंड गुलशन के साथ शहर में चोरी की कई वारदात को अंजाम दिया है। गुलशन चलने फिरने में लाचार है। घटना के दिन तीनों ने मिलकर ज्यूपीटर के तीन स्कूटर को निशाना बनाया। तीसरे स्कूटर में करीब एक लाख रूपए मिले।

                        आईपीएस शलभ सिन्हा ने बताया कि दिव्यांग गुलशन साथियों का मास्टर माइंड है। उसका पिता टैक्सी चलाता है। मां नौकरी करती है। गुलशन के माता पिता ने उसे एक स्कूटी खरीद कर दिया है। शेख साजिद और सागर ऊर्फ गोलू गुलशन को स्कूटी पर बैठाकर दिनभर घुमाते हैं। मौका पाता ही खासतौर पर ज्यूपीटर स्कूटी की डिग्गी का ताला तोड़कर चोरी को अंजाम देते हैं। सागर और शेख साजिद पर इसके पहले भी चोरी के कई मामलों में अपराध दर्ज है।

कई वारदात में शामिल

                 मास्टर माइंड दिव्यांग गुलशन ने बताया कि उसे शेख साजिद ने फंसाया है। शेख साजिद कटघोरा का रहने वाला है। पहले किसी होटल में वेटर का काम करता था। मेरे ही घर में किराए से रहता है। उसने कई बार ज्यूपीटर स्कूटी का ताला तोड़ा है। डिग्गी से मोबाइल,कैमरा रूपया चुराया है। एक बार उसने एक दिन करीब 16 स्कूटी का ताला खोला। लेकिन उसे कुछ नहीं मिला। घटना के दिन उसने तीन स्कूटी का ताला खोला। तीसरी स्कूटी में 98500 रूपए मिले। लेकिन उसने बताया कि बैग में सिर्फ 60000 रूपए ही मिले हैं।

                     शलभ सिन्हा ने बताया कि आरोपियों के पास से कल की चोरी को मिलाकर करीब 132500 रूपए का सामान और नगद बरामद हुआ है। आरोपियों को न्यायालय में पेश किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *