ISI एजेंट मास्टर माइंड संजय को लेकर जम्मू पुलिस रवाना

IMG20170419140121बिलासपुर—सिविल लाइन और स्पेशल पुलिस ने लगातार कार्रवाई करते हुए पिछले दिनों चार आईएसआई एजेंटो को हिरासत में देश में तहलका मचा दिया था।पुलिस ने प्रारंभिक जांच पड़ताल में बताया कि देशद्रोहियों के तार देश के कोने कोने से जुड़े हैं। इसी क्रम में आरोपियों से पूछताछ करने जम्मू कश्मीर पुलिस बिलासपुर पहुंची। आरोपियों से क्या कुछ जम्मू पुलिस ने पूछा इसकी जानकारी पुलिस ने नहीं दी है।

                     बिलासपुर जिले के विभिन्न जगहों से हिरासत में लिए गए आईएसआई एजेंटों से बातचीत करने और रिमांड में लेने जम्मु पुलिस बिलासपुर पहुंची। पुलिस ने गिरफ्तार सभी आरोपियों से भी पूछताछ की। इसके बाद जांजगीर से गिरफ्तार आईएसआई एंजेंट संजय देवांगन को रिमांड में लेकर जम्मू पुलिस रवाना हो गयी।

                      मालूम हो कि पिछले दिनों सिविल लाइन पुलिस ने चार स्लीपर सेल आरोपियों को हिरासत में लिया था। संजय देवांगन, मनिन्द्र यादव को जांजगीर से जबकि अवधेश दुबे को मगरपारा और धर्मेन्द्र यादव को सरकंडा में ससुराल से पकड़ा गया था। पूछताछ के दौरान धर्मेन्द्र यादव ने बताया था कि दिल्ली में किसी जब्बार नामक व्यक्ति को एटीएम से निकालकर पैसा देता था। धर्मेन्द्र के अनुसार सभी एटीएम का खाता बिलासपुर के विभिन्न बैंकों में अलग अलग नाम से हैं।

                                  लगातार गिरफ्तारी के बाद सिविल लाइन पुलिस ने थाना प्रभारी नसर सिद्धिकी के आवेदन पर अपराध दर्ज किया गया । बताया जा रहा है कि बिलासपुर पुलिस अभी कुछ संदिग्धों को गिरफ्तार कर सकती है। पुलिस के अनुसार गिरफ्तार किए गए सभी आरोपियों के तार जम्मू.कश्मीर,दिल्ली, नोएडा, मध्य प्रदेश समेत अन्य प्रदेश और देशो से जुड़े हैं।

              पिछले दिनों शलभ सिन्हा ने पत्रकारों को बताया था कि पैसे कहां से आकर कहां भेजे जाते है। जांच पड़ताल चल रही है। बैंकों से खातों के रिकार्ड बुलाए गए हैं। जांच पड़ताल के बाद सारी जानकारी पत्रकारों को दी जाएगी।

                                  पुलिस अधिकारी शलभ के अनुसार शनिवार को जम्मू कश्मीर पुलिस सिविल लाइन थाने पहुंची। मास्टर माइंड संजय देवांगन को रिमांड में लेकर जम्मू रवाना हो गयी। जम्मू में पकड़े गए सतविंदर सिंह से संजय देवांगन के तार जुड़े हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *