मेरा बिलासपुर

मीटिंग में कमिश्नर बोरा ने लगाई डीईओ को फटकार

deo

बिलासपुर । संभागीय़ कमिस्नर सोनमणि बोरा ने  जिले के विभिन्न अधिकारियों की बैठक लेकर उनके विभागीय कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने अधिकारियों सेे कहा कि वे मेहनत और ईमानदारी से कार्य करें। योजनाओं के क्रियान्वयन से संबंधित हवा-हवाई बातें कतई बर्दाश्त नहीं की जायेंगी । उन्होंने कार्य में लापरवाही बरतनें वाले अधिकारियों को कड़ी कार्यवाही की चेतावनी भी दी। समीक्षा के दौरान जिला शिक्षा अधिकारी के कार्यों पर असंतोष प्रकट करते हुए कड़ी फटकार लगाई और उन्हें कारण बताओं नोटिस जारी करने का भी निर्देश दिया।
मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में संभागायुक्त ने शिक्षा विभाग के तहत् शाला प्रवेशोत्सव की तैयारी, स्कूलों में शौचालय निर्माण की स्थिति, गुणवत्तापूर्ण गणवेश सिलाई आदि के संबंध में जानकारी ली। इस संबंध में जिला शिक्षा अधिकारी का जवाब संतोषप्रद नहीं पाया। इस पर संभागायुक्त ने नाराजगी जताते हुए उन्हें सरकार के दिशा-निर्देशों का पाठ पढ़ाया। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग के साथ-साथ सभी विभागों के अधिकारी अपने अधीनस्थ कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण करें और विभागीय कार्यों की समीक्षा कर गुणवत्तापूर्ण कार्य के लिए प्राथमिकता तय करें।

बैठक में संभागायुक्त ने कहा कि विभिन्न विभागों में जो भी योजनाएं संचालित हैं, उन्हें समयावधि में पूरा करते हुए शत्प्रतिशत लक्ष्य पूर्ति का प्रयास करें। आगामी तीन माह में अपने-अपने विभाग के लंबित कार्यों के गुणवत्तापूर्ण निराकरण हेतु प्रयास करें तथा 15 अगस्त 2015 तक सभी लंबित प्रकरणों का निराकरण किया जाये। उन्होंने कहा कि सभी कार्यालय प्रमुख लोक सेवक के नाते पारदर्शिता से कार्य करें। जिससे जिले में एक अच्छा माहौल निर्मित होगा। –
संभागायुक्त ने निर्देशित किया कि जिले में बरसात के दौरान संभावित प्राकृतिक आपदा एवं उससे बचाव व राहत के लिए मुस्तैदी से कार्य करें। कन्ट्रोल रूम में अधिकारियों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगाएं। नगर निगम भी अपनी टीम हमेशा तैयार रखें। विशेषकर रात्रि के दौरान बचाव दल तैनात रहें, ताकि आपातकालिन स्थिति में वे तत्परता से प्रभावित स्थल पर पहुंच सकें। नाॅव, गोताखोर, रस्सी, ट्यूब आदि की तैयारी भी सुनिश्चित कर लें। सभी एसडीएम को भी अपने-अपने क्षेत्रों में आपदा से बचाव की तैयारी करने कहा।

इंद्रावती नदी में डूबने से दो लोगों की मौत

संभागायुक्त ने बरसात में विभिन्न बीमारियों से बचाव के लिए जिले के सभी हैण्डपंपों का क्लोरिनेशन करने कहा। अंतिम छोर में स्थित ग्रामों के हैण्डपंपों पर सबसे पहले ध्यान दिया जाये। आश्रम, शाला, छात्रावास, आंगनबाड़ी, स्कूल, पुलिस थाने और जहां भी हैण्डपंप है उनका क्लोरिनेशन हफ्ते भीतर करने हेतु निर्देशित किया। साथ ही  जिले में बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण हेतु एक बड़ा अभियान चलाने कहा।
बैठक में श्रम, खाद्य, राजस्व, कृषि, बिजली आदि विभागों के कार्यों की समीक्षा भी की गई। बैठक में कलेक्टर श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, नगर निगम आयुक्त श्रीमती रानू साहू, अपर कलेक्टर श्री जे.पी. मौर्य, जिला पंचायत के सीईओ श्री सर्वेश्वर नरेन्द्र भूरे, सभी एसडीएम एवं विभिन्न विभागों के जिलाधिकारी उपस्थित थे।
समाचार क्रमांक/408/अग्रवाल

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS