मेरा बिलासपुर

मुंहबोला भाई ने उतारा मौत के घाट

IMG_20160412_132844 बिलासपुर—सरकंडा के लगरा नाला के पास 31 मार्च को निगरानी शुदा बदमाश मनोज साहू के अंधे कत्ल का खुलासा आज पुलिस ने किया है। सरकंडा पुलिस ने मनोज के दोस्त को हिरासत में लिया है। आरोपी अनिल शर्मा ने पुलिस बयान में अपना जुर्म स्वीकार किया है। बिलासागुड़ी में आज पत्रवार्ता में हत्या के कारणों जानकारी दी।

                 31 मार्च को लगरा नाला ट्राफिक पार्क के पीछे चिंगराजपारा के निगरानी शुदा बदमाश मनोज साहू के शव होने की सूचना पुलिस को मिली। सूचना लगरा निवासी राजकुमार श्रीवास ने पुलिस को दी थी।  पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद हत्या का खुलासा हुआ। जांचु के दौरान पलिस को मुखबिर से जानकारी मिली कि मनोज तुलसी आवास स्थित अनिल शर्मा के घर आना जाना करता था।

                      मुखबिर की सूचना पर सरकंडा पुलिस ने अनिल शर्मा और मनोज के संबधों को लेकर हाथ पैर मारना शुरू किया। इस दौरान पुलिस को कुछ ऐसे साक्ष्य मिले जो अनिल शर्मा की ओर इशारा करते थे। पलिस को जांच के दौरान मृतक का मोबाइल लोयला स्कूल के पास बरामद किया। मोबाइल में अनिल से बातचीत होने के सुराग पुलिस को मिले।

                       शक के आधार पर पुलिस ने अनिल शर्मा को हिरासत में लिया। कड़ाई से पूछताछ के बाद अनिल शर्मा ने बताया कि मनोज को वह पिछले चार साल से जानता था। दोनो की मुलाकात रास्ते में होती थी। मनोज ने उसे सुबह सैर के दौरान कई बार लिफ्ट भी दिया। जिसके चलते दोनो में पारिवारिक संबध हो गये। दोनो एक दूसरे के घर आना-जाना करने लगे । अनिल के अनुसार मनोज को वह आपना छोटा भाई मानने लगा था।IMG_20160412_132840

नहीं रूक रहा कोरोना विस्फोट..जिले में पाए गए 594 पाजीटिव..बिलासपुर शहर में आंकड़ा 443 पार..एक ही दिन में एक दर्जन से अधिक की मौत

                   पत्रकारों को जानकारी देते हुए पुलिस कप्तान अभिषेक पाठक ने बताया कि 28 मार्च की रात को मनोज नशे की हालत में अनिल शर्मा के घर गया। इस दौरान वह मृतक फोन पर किसी से बात कर रहा था। बात करते करते वह जूता पहने हुए अनिल शर्मा के पलंग पर सो गया। अनिल के अनुसार उस समय मनोज शराब भी पिया हुआ था। जब उसने मनोज को जूता उतारने के लिए कहा तो वह गुस्से मे आकर अश्लील गालिया देने लगा। घर से भाग जाने को कहां।

           पुलिस कप्तान ने बताया कि पुलिस पूछताछ में अनिल के अनुसार अश्लील गाली गलौच के बाद उसे गुस्सा आ गया । घर में रखे राड़ से मनोज के सिर वार कर दिया। जिसके चलते उसकी मौत हो गई। मनोज की मौत के बाद अनिल ने शव को चादर में बांधकर रात भर रखा। दूसरे दिन सुबह अपने गृह ग्राम डगनया सीपत गया। अपने साथ काम करने वाले जान सिंह राज को लेकर बिलासपुर लेकर आया। अनिल ने जान सिंह को पहले तो शराब पिलाया। इसके बाद घटना की जानकारी देते हुए लाश को ठिकाने लगाने के लिए तैयार किया।

                            पुलिस कप्तना पाठक ने बताया कि दोनो मोटरसायकल से लेकर लाश को ट्रेफिक पार्क के पीछे ले जाकर फेंक दिया। आरोपी अनिल शर्मा के इकबालिया बयान और निशानदेही पर पुलिस ने हत्या में इस्तेमाल राड़ को बरामद कर किया है । लाश को ठिकाना लागने में इस्तेमाल की गई मोटर सायकल को भी जब्त कर लिया है।

                             आरोपी अनिल शर्मा ने बताया कि वह सीपत एनटीपीसी में केमेकिल एनालिसिस्ट के पद पर 2010 से काम कर रहा है। हत्या का कारण अनिल शर्मा ने गाली गलौच का होना बताया है। अनिल के अनुसार वह मनोज कई बार गाली गलौच करने मना भी किया था। लेकिन वह अपनी आदतों से बाज नहीं आया। 28 मार्च को भी उसके साथ मनोज ने गाली गलौच की। क्रोध में आकर राड से सिर पर वार कर दिया। बहरहाल पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर दिया है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS