मुश्किल से पैदा होता है जोगी जैसा नेता..रिजवी ने कहा..गुजर जाएगी जोगी के वगैर भी..लेकिन उदासी और बेकरारी के साथ

रायपुर—जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के मीडिया प्रमुख और मध्यप्रदेश पाठ्यपुस्तक निगम पूर्व अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता इकबाल अहमद रिजवी ने स्वर्गीय प्रथम मुख्यमंत्री अजीत जोगी को अद्भुत शख्सियत का मालिक बताया है। उन्होने कहा कि कहा  कि जोगी के अद्भुत व्यक्तित्व और  विलक्षण प्रतिभा का बखान करने के लिए शब्दकोष का शब्द बौना सिद्ध हो जाता है।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

           रिजवी ने बताया कि जननायक जोगी के अथक प्रयास गरीब जनता की खुशहाली के लिए थी। उनकी सोच निरीह, बेबस और कमजोर तबकों की तरक्की की थी। उनका दर्द किसानों का दर्द था। उनका संकल्प ग्राम राज्य को साकार करना था और उनकी कसौटी जनचेतना में थी।

          रिजवी ने उनकी शख्सियत की ओर ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि स्वर्गीय जोगी का अन्तर्मन शिक्षित युवा और बेरोजगारों के भविष्य निर्माण में संरत था। उनका प्रेरक वाक्य साक्षर ही नहीं शिक्षित समाज में था। स्वर्गीय जोगी की आत्मा खेत-खेतिहर मजदूर, किसान और श्रमिकों के घर में था। उनका मुकाम झुग्गीवासी, आवासहीन और असहायों की दहलीज पर था। उनका प्रबल शत्रु साम्प्रदायिकता थी और उनका मजहब सर्वधर्म सम्भाव और वसुधैव कुटुम्बकम के सशक्त पक्षधर थे।

        रिजवी ने कहा जोगी को जब तक दुनिया रहेगी याद किया जाता रहेगा।  क्योंकि अजीत जोगी माटीपुत्र थे और उन्होंने मरते दम तक फर्ज को निभाया है। जोगी शताब्दी पुरूष थे जो सदियों में जन्म लेते हैं। जोगी ओझल हुए है विलुप्त नहीं। बड़ी मुश्किल से होता है जोगी जैसा दीदावर पैदा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *