मेडिकल विभाग की होगी सर्जरी..स्वास्थ्य मंत्री ने कहा..CIMS में फर्जी प्रमोशन वाले डाक्टरों का भी होगा इलाज..झण्डारोहण मुद्दा नहीं

बिलासपुर— स्वास्थ्य एवं पंचायत,अभियांत्रिकी मंत्री टीएस सिंह देव आज बिलासपुर प्रेस क्लब पहुंचकर पत्रकारों से रूबरू हुए। उन्होने पत्रकारों के बीच पहुना बनकर सवालों का खुलकर जवाब दिया। टीएस सिंहदेव ने कहा कि स्वास्थ्य व्यवस्था में बहुत सुधार की गुंजाइश है। उसे हर हालत में दुरूस्त किया जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मेडिकल में सुधार की गहन सर्जरी की जरूरत है। सवाल के जवाब में टीएस ने यह भी कहा कि सिम्स में फर्जी दस्तावेजों के साथ नौकरी करने वाले डॉक्टरों की जांच होगी। कार्रवाई भी होगी। उन्होने एक बार फिर दो टूक कहा कि आयुष्मान भारत योजना की छत्तीसगढ़ में इसलिए जरूरत नही है क्योंकि हम सरकारी मेडिकल क्षेत्र को निजी मेडिकल क्षेत्र से ज्यादा कारगर बनाएंगे। टीएस सिंहदेव ने बताया कि गुटबाजी की कोई बात नहीं है।

                    स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह बिलासपुर प्रवास के दूसरे दिन पहुना बनकर बिलासपुर प्रेस क्लब में पत्रकारों के बीच पहुंचे। हमेशा की तरह सहज और सरल होकर पत्रकारों के तीखे सवालों का जवाब दिया। उन्होने कहा कि पत्रकारों के सवाल समस्याओं की तरफ इशारे करते हैं। इसलिए पत्रकारों के सवालों और आलोचनाओं को सकारात्मक रूप से लेने की जरूरत है।

              क्या नगर विधायक के झण्डा नहीं फहराने या महिला विधायक के झण्डा फहराने से जनता का अपमान हो रहा है। टीएस सिंहदेव ने कहा कि झण्डा फहराने से अपमान का सवाल ही नहीं उठता है। हमें मान अपमान से अलग हटकर झण्डा का सम्मान करना है। गणतंत्र हमारे लिए महत्वपूर्ण है। इस मुद्दे को दूर रखा जाए।

                 सिम्स में फर्जी तरीके से कुछ डाक्टर प्रमोशन पाकर बड़े पदों पर चले गए हैं। कोर्ट को भी गुमराह कर हेल्थ सेक्टर से मेडिकल सेक्टर में घुस गए हैं। मूल दस्तावेजों से छेड़छाड़ किया है। क्या सिम्स के ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सर्जरी होगी। टीएस सिंहदेव ने कहा कि मेडिकल विभाग की व्यापक स्तर पर सर्जरी होगी। व्यवस्था को चुस्त और दुरूस्त बनाया जाएगा। जनता के टैक्स से सरकारी अस्पताल और संस्थान चलते हैं। हमारी और सरकारी की जिम्मेदारी बनती है कि बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था दे। हम तमाम खामियों को दूर कर ऐसा करेंगे। रही बात सिम्स में फर्जीवाड़ा कर जमे डाक्टरों और फर्जी दस्तावेज के सहारे कोर्ट को गुमराह करने वाले प्रमोशनधारी डाक्टरों की..तो जांच के बाद सही पाए जाने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। ऐसे लोग व्यवस्था के लिए शुरू होने वाली सर्जरी का हिस्सा होंगे। किसी को नहीं छोड़ा जाएगा।

              सवाल जवाब में स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि प्रदेश की स्वास्थ्य व्यवस्था में 75 हजार मितानिन 800 मिनी पीेएचसी 160 सीएचसी, 27 जिला अस्पताल है नहीं लेकिन मानकर चला जाए। इन सबको कुशल आपरेट की जरूरत है। ढांचा बिगड़ा हुआ है। कम से कम समय में इसे ठीक कैसे किया जाए। हमारा लक्ष्य है। लोगों को निःशुल्क और बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था हासिल हो..सरकार की यही कोशिश है। टीएस सिंह देव ने कहा कि स्वास्थ्य व्यवस्था को हम तीन चरणों में बांटकर देख सकते हैं।

                           स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रदेश की 75 प्रतिशत आबादी को केवल प्राइमरी इलाज की आवश्यकता है। प्राइमरी इलाज के लिए टाप टू बांटम तक दवाइयां उपलब्ध हो। हमारा प्रयास रहेगा। स्मार्ट कार्ड उपयोग पर कमी के सवाल पर टीएस ने कहा कि स्मार्ट कार्ड बंद होने का सवाल ही नहीं है। क्योंकि सितम्बर तक का रूपया जमा कर दिया गया है। आयुष्मान भारत 6 महीने बाद बंद हो जाएगा। हमारा मानना है कि जब हमारे पास स्वास्थ्य का बेहतर ढांचा है। बस हमें इसे ठीक करने की जरूरत है। इलाज की व्यवस्था ठीक होगी तो फिर आयुष्मान भारत की जरूरत क्या है।

                अक्सर निजी अस्पताल शुल्क भुगतान नहीं होने पर शव को बंधक बना लेते हैं। सवाल के जवाब में स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यह दुखद है। इसकी शिकायत बार बार मिलती है। इस पर हम बेहतर कुछ करेंगे। प्रयास होगा कि तत्काल शुल्क नहीं होने पर बाद में भी लिया जा सकता है। इसके पहले अंतिम संस्कार के लिए शव को बंधक नहीं बनाया जा सकता है।

                प्रदूषित पानी से कई प्रकार के रोग हो रहे हैं..पीलिया प्रमुख है। सवाल के जवाब में टीएस ने कहा कि ड्रेन के पास से पाइप गुजरने से सिपेज के कारण गंदा पानी घर तक पहुंच रहा है। इसे दुरूस्त करने की जरूरत है। ग्रामीण क्षेत्र की पेयजल व्यवस्था ठीक करेंगे। सिंहदेव ने कहा कि किसी भी कर्मचारी का प्रमोशन नहीं रोका जाएगा। लेकिन शासकीय कार्रवाई चलती रहेगी। मनरेगा भुगतान नहीं मिलने के जवाब में टीएस ने बताया कि पता लगाएंगे। यहां भी ना केवल भुगतान कराया जाएगा। बल्कि अव्यवस्था को दूर भी किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *