मैने ना तो दहेज मांगा..ना ही शादी से इंकार किया…

IMG-20170112-WA0033बिलासपुर— शादी के नौ दिन पहले दहेज में कार और नगदी मांगे जाने पर रजनीकांत शेण्डे ने एक सिरे से इंकार कर दिया है। सीजी वाल को रजनीकांत शेण्डे ने बताया कि वह रेलवे में बुकिंग क्लर्क है। मैने धमकी भरे काल और पत्र आने के बाद भी शादी करने से इंकार नहीं किया। हां…मैने समाज में मामले को रखने की बात कही थी। शायद अंजली के परिवार को बुरा लगा…उन्होने पुलिस के जाकर एफआईआर दर्ज करवा दिया। महिला आयोग से शिकायत की…।

                                        मालूम हो कि शादी के 9 दिन पहले 9 जनवरी को तिफरा स्थित अभिलाषा परिसर निवासी यशवंत राव ओंकार ने सिरगिट्टी पुलिस को बताया कि चुचुहियापारा निवासी किशोर शेण्डे और उसके बेटे ने शादी करने से इंकार कर दिया। रजनीकांत ने घर आकर बताया कि यदि शादी में कार और दो लाख नगद नहीं दिया गया तो शादी नहीं करेंगे। शादी से इंकार किए जाने के बाद समाज में उनकी मान मर्यादा को चोट पहुंची है। पुलिस ने यशवंत की शिकायत पर रजनीकांत के खिलाफ मामला दर्ज किया।

                    आज रजनीकांत शेण्डे ने बताया कि मैने अंजली ओंकार से शादी के लिए कभी इंकार नहीं किया। दरअसल कुछ छिपाने के लिए मुझे फंसाया जा रहा है। रजनीकांत शेण्डे ने बताया कि सगाई धूमधाम से हुई थी। हमने भी कार्ड छपाया और बांटा। तैयारी में लाखों रूपए खर्च किए। लेकिन लड़की के पिता ने उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा कर धोखा किया है।

                             रजनीकांत ने बताया कि उसकी सगाई पांच नवम्बर 2016 को धूमधाम से हुई। 23 दिसम्बर को मेरे घर के बाहर अज्ञात व्यक्ति ने भांजी को पत्र दिया।  पत्र में लडकी से शादी नहीं करने की धमकी दी गयी है। मैने पत्र की जानकारी लडकी के माता पिता को दी। उन्होने पत्र लेकर सिरगिट्टी थाना जाने की बात कही। बाद में उन्होने बताया कि भतीजी और उसके पति को पुलिस ने बुलाकर डांटा है। अब किसी प्रकार की परेशानी नहीं है।

                                                    रजनीकांत ने बताया कि 26 दिसम्बर को कार्यालय के काम से मैसूर गया था। तीस दिसम्बर को दोपहर 12 और एक के बीच मोबाइल पर अज्ञात युवक और युवती ने लडकी से सगाई तोड़ने को कहा। ऐसा नहीं करने पर जान से मारने की धमकी दी। रजनीकांत ने बताया कि  9 जनवरी को भी दोपहर 12 बजे एसटीडी पर मां के मोबाइल पर काल आया। कालर ने लडकी से सगाई तोडने और ऐसा नहीं करने पर जान से मारने की धमकी दी।  10 जनवरी को धमकी भरा पत्र आया। मैने सभी जानकारी लड़की के माता पिता को दे दिया। दस तारीख को परिवार सहित उनके घर गया। मामले में समाज के लोगों के सामने रखने को कहा।

                     दूसरे दिन समाचार पत्रों से जानकारी मिली कि यशवंत राव ओँकार और अंजली ने मेरे खिलाफ दहेज का मामला सिरगिट्टी थाने में दर्ज करववा दिया है। महिला आयोग से बताया कि दहेज में कार और दो लाख रूपए मैने मांगा है। जबकि बौद्ध समाज में दहेज नहीं चलता है। रजनीकांत शेण्डे ने बताया कि यह सच है कि लडकी वालों ने शादी की तैयारी में काफी धन लगाया। लेकिन हमने भी तैयारी में बहुत खर्च किए हैं। बताना चाहूंंगा कि मैने शादी से कभी इंकार नहीं किया। ना ही दहेज मांगा। सब कुछ जानते हुए भी लडकी वालों ने मेरे और परिवार के खिलाफ पुलिस में शिकायत क्यों की।

              रजनीकांत ने बताया कि जब मैने एफआईआर दर्ज करने की बात कही थी तो यशवंत ओंकार ने मना कर दिया था। अब उन्होने मेरे ही खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दिया। मैं चाहता हूं कि महिला आयोग और पुलिस निष्पक्ष जांच करे। मैने पुलिस के सामने आवेदन के साथ पत्र और मोबाइल नम्बर पेश कर दिया है। महिला आयोग के सामने भी अपनी बातों को रखूंगा।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *