मेरा बिलासपुर

मैने मुख्यमंत्री से नहीं मांगा पद

IMG_20150727_165826बिलासपुर— विधानसभा उपाध्यक्ष बनने के बाद पहली बार बिलासपुर पहुंचे बद्रीधर दीवान का आज भाजपाइयों ने आतिशी स्वागत किया। शहर प्रवेश करते ही बेलतरा विधायक का जगह जगह फूल मालाओं से स्वागत करने के साथ उनके समर्थकों ने जिन्दाबाद के नारे लगाये। छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुए विधानसभा उपाध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा को सुचारू रूप से चलाने के लिए मुख्यमंत्री रमन सिंह ने मुझे विधानसभा उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी है। उन्होंने बताया कि मैने ना तो विधानसभा उपाध्यक्ष पद की मांग की और ना ही मै संगठन या सरकार से नाराज ही था। मै खुद नहीं चाहता था कि कोई जिम्मेदारी मिले क्योंकि मुझे अपने विधानसभा के विकास के लिए बहुत काम करना है। लेकिन मंत्रियों के निवेदन को मैं ठुकरा ना सका इसलिए विधानसभा उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी को संभालना पड़ा।

                   विधानसभा उपाध्यक्ष बनने के बाद पहली बार बिलासपुर पहुंचे बद्रीधर दीवान ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि मुख्यमंत्री और केबिनेट मंत्रियों के निवेदन को मै ठुकरा नहीं सका। इसलिए मुझे बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गयी है। बद्रीधर दीवान ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि मुझे विधानसभा उपाध्यक्ष की जिम्मेदारी नाराजगी के कारण नहीं बल्कि अनुभवों को ध्यान में देकर दी गयी है। मैने मुख्यमंत्री से कभी भी पद की मांग नहीं की। बद्रीधर दीवान ने बताया कि मै जिम्मेदारी नहीं मिलने पर भी मैं नाराज नहीं था।

           नान घोटाले पर किए गए एक प्रश्न पर बद्रीधर ने बताया कि कांग्रेस को सत्ता की भूख सता रही है। जब जनता ने उन्हें नकार दिया है तो वे कम से कम विपक्ष की भूमिका को तो ईमानदारी से निभाए। यदि विपक्ष की भूमिका नहीं निभाएंगे तो आने वाले चुनाव में कांग्रेस की स्थित प्रदेश में लोकसभा जैसी स्थिति हो जाएगी।

जब किसानों ने कहा..मरने से पहले करेंगे उग्र आंदोलन...मुआवजा देने से पहले SDMने मांगा था 50-50 हजार रूपए

                               बद्रीधर ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि नान और व्यापम घोटाले के सवाल पर जवाब देते हुए कहा कि उच्चतम न्यायालय अपना काम कर रही है। इस पर मुझे कुछ नहीं कहना। नान घोटाले में किसी को माफ नहीं किया जाएगा।

                                   सीजी वाल को बद्रीधर ने बताया कि मैं सिर्फ ब्र्रम्हणों का विधानसभा उपाध्यक्ष नहीं हूं मैं पूरे विधानसभा का उपाध्यक्ष हूं। जिसमें 90 विधायक शामिल हैं। इससे पहले मैं बेलतरा का विधायक हूं। मेरी प्राथमिकता बेलतरा का विकास करना है। एक सवाल के जवाब में बद्रीधर ने बताया कि बेलतरा की सड़कें और आधारभूत संरचना को धीरे-धीरे ठीक कर लिया जाएगा। इस दौरान ज्यादातर प्रश्नों का जवाब नहीं देते हुए चुप रहना ही उचित समझा।

              स्वागत कार्यक्रम में गैर ब्राम्हण समाज कम ही दिखाई दिया। छ्त्तीसगढ़ भवन पहुंचने पर ब्राम्हणों ने आतिशी स्वागत किया। इस दौरान ब्राम्हण समाज की महिलाएं भारी संख्या में पुष्प गुच्छ और फूलों का हार लेकर दिखाई दीं।

                   कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष राजा पाण्डेय, सुंरेन्द्र गुम्बर,देवेन्द्र पाण्डेय विशेष रूप से उपस्थित थे। लेकिन निकाय मंत्री के समर्थक कहीं नजर नहीं आये।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS