यहां नहीं चलता पीएम का आदेश..? मुंगेली CMO से नहीं गया PMO को जवाब…श्रम अधिकारी ने कहा. इंजीनियर की पत्नी ने की है प्रधानमंत्री से शिकायत

बिलासपुर–  मुंगेली सीएमओ की अफसर शाही से क्या नेता क्या जनता..छोटे बड़े सभी अधिकारी त्राहि-त्राहि कर रहे हैं। सीएमओं की अफसरशाही का कमाल है कि अभी तक प्रधानमंत्री से की गयी शिकायत और पीएमओ से जारी पत्र का जवाब भी नहीं दिया गया है। वहीं अब श्रमआयुक्त अनिता गुप्ता ने बताया हमने पत्र जारी कर जवाब मांगा था। पता लगाएंगे की जवाब क्या आया है।

                        मुंगेली नगरपालिका की अफसर शाही से क्या आम और खास सभी परेशान हैं। नेता से अधिकारी तक अपना माथा पीट रहे हैं। लेकिन सीएमओं पर फिलहाल इसका कोई असर पड़ता नहीं दिखाई दे रहा है। अब एक नए रूप में पुराना मामला सामने आया है। 

          जानकारी के अनुसार मुंगेली नगर पालिका सहायक इंजीनियर अनूप सोनी की पत्नी भारती सोनी ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर मुंगेली सीएमओं की शिकायत की है। अपने शिकायत पत्र में भारती सोनी ने बताया कि उनके पति अनूप सोनी की उम्र 57 साल है और स्वास्थ्य ठीक नहीं रहता है। इसके चलते उन्होने 22 मार्च 2020 को एक आवेदन देकर 23 मार्च से 25 मार्च 2020 तक छुट्टी की मांग की। नगर पालिका अधिकारी और नोडल अधिकारी ने पति की छुट्टी को वाट्सअप के माध्यम से स्वीकृत किया। इसी बीच भारत सरकार ने 25 मार्र्च को क्रमिक दो चरणों में लाकडाउन का एलान किया।

            भारती सोनी पीएमओं को बताया कि पति की उम्र 57 साल है। उन्हें हाईब्लड प्रेशर ,शुगर, और थायराइड की क्रानिक समस्या है।  लाकडाउन के चलते बिलासपुर से मुंगेली नही पहुंच सके। भारती ने यह भी बताया कि छुट्टी के दौरान अनूप सोनी बिलासपुर स्थित अपने घर में ही थे। ऐसी सरत में  पति ने सीनियर अधिकारियों की जानकारी में कार्यालय का सारा काम काज घर से करने लगे। 

                 भारती सोनी ने बताया कि 1 अप्रैल 2020 से 30 अप्रैल 2020 तक निष्ठा एप और वाट्सअप के माध्यम से पति अनूप सोनी ने उपस्थित दर्ज भी कराया। लेकिन सीएमओ राजेन्द्र पात्रे ने अनूप सोनी को अनुपस्थित मानकर वेतन रोक दिया। जबकि अनूप सोनी इस महीनें में अधिकारियों की सहमति से वर्क टू होम काम किया। साथ ही उपस्थिति भी दर्ज कराया।

                  भारती सोनी के अनुसार मुख्यमंत्री ने लाकडाउन के दौरान एक आदेश भी जारी किया कि किसी भी कर्मचारी का वेतन नहीं काटा जाएगा। बावजूद इसके बीमार पति को प्रताड़ित किया गया। अवकाश स्वीकृत के बाद भी उन्हें अनुपस्थित बताया गया। इस दौरान सीएमओ राजेन्द्र पात्रे ने सारे आदेश और निर्देश को दरकिनार कर पति को अपमानित किया। 23 मार्च से आज तक वेतन नहीं दिया गया है। जिसके कारण घर परिवार चलाना मुश्किल हो गया है। और पति दिनों दिन अवसाद की तरफ जा रहे हैं। भारती ने प्रधानमंत्री से निवेदन किया कि राजेन्द्र पात्रे की अफसर शाही से बचाते हुए वेतन दिलाने की कृपा करें।

  सहायक श्रमायुक्त ने मांगा जवाब               

                   भारती सोनी की शिकायत को पीएमओ ने रायपुर स्थित श्रमायुक्त कार्यालय को भेजा। सहायक श्रमायुक्त ने एक पत्र श्रम अधिकारी मुंगेली और सीएमओ को भेजकर जवाब मांगा। श्रमायुक्त कार्यालय से पत्र 3 जुलाई को मुंगेली भेजा गया। लेकिन अभी तक कोई जवाब नहीं दिया गया है। जबकि श्रमआयुक्त कार्यालय ने दो दिन के अन्दर जवाब मांगा था। 

जवाब का पता लगाएंगे..सहायक श्रमायुक्त

                       रायपुर से सहायक श्रमायुक्त अनिता गुप्ता ने बताया कि उन्हें अच्छी तरह से जानकारी है कि प्रधानमंत्री से की गयी शिकायत और पीएमओ से निर्देश के बाद मुंगेली से जवाब मांगा गया है। मुंगेली से क्या जवाब आया है..आया है या नहीं….इस बात की जानकारी उन्हें नहीं है। लेकिन पता जरूर लगाएंगे की आखिर पत्र का क्या जवाब आया है।          

Tags:,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *