युवक की गुण्डागर्दी से कालोनीवासी परेशान

COLLECTORATEबिलासपुर— नूतन कालोनी और आसपास के लोगों ने युवक की नेतागिरी से परेशान होकर जिला कलेक्टर से शिकातय की है। भारी संख्या में कलेक्टर कार्यालय पहुंची महिलाओं ने बताया कि अभिजीत पाण्डेय ने कालोनी वासियों का जीना हराम कर दिया है। आए दिन अनाप शनाप कमेंट और विरोध करने पर धमकियां देता है।

                 नूतन कालोनी और आस पास की महिलाओं ने एक युवक की हरकतों से परेशान होकर कलेक्टर से फरियाद की गुहार लगायी है। महिलाओं ने बताया कि अभिजीत पाण्डेय का पिता रामखिलावन सिंचाई विभाग में काम करते हैं। रामखिलावन का स्थानांतरण करीब 6 साल पहले बिलासपुर से अम्बिकापुर हो गया है। लेकिन उन्होने सरकारी आवास एच 1/17 को नहीं छो़ड़ा है। जिसमें रामखिलावन का बेटा अभिजीत और उसकी बहन रहती है।

                   महिलाओं ने बताया कि अभिजीत पाण्डेय आए दिन लोगों को परेशान करता है। विरोध करने पर जेल भेजने और मार डालने की धमकियां देता है। सार्वजनिक कार्यक्रमों में अड़चन डालता है। पुलिस को झूठे फोन कर कालोनीवासियों को परेशान करता है। महिलाओं के अनुसार जब भी किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में लोग इकठ्ठा होते है तो उसकी हरकतें परेशान करने वाली होती हैं।

                                जिला प्रशासन को लिखित शिकायत देते हुए महिलाओं ने कहा कि अभिजीत की गुण्डागर्दी से निजात दिलाया जाए। महिलाओं के साथ कालोनी के कुछ पुरूषों ने बताया कि अभिजीत ने कालोनी की मुख्य सड़क को शाम होते ही बैडमिंटन कोर्ट बना लेता है। आने जाने वालों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। उसकी आदतों से परेशान होकर लोग रास्ता घूमकर अपने घर जाते हैं। यदि किसी ने विरोध किया तो वह मारपीट पर उतारू हो जाता है। इतना ही नहीं वह बात बात पर झूठे केश में फंसाने की धमकी देता है।

                      शिकायत कर्ताओं ने बताया कि कालोनी के कई लोगों ने उसके खिलाफ सरकन्डा थाना,आदिम जाति थाना में शिकायत की है लेकिन उसके खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जिसके चलते उसका मनोबल बढ़ गया है। आए दिन गुण्डागर्दी कर लोगों को परेशान करता है। लड़कियों का निकलना मुश्किल हो गया है।

Comments

  1. By Rishi tiwari

    Reply

    • By Aakanksha shastri

      Reply

    • By Sumit tiwari

      Reply

    • By Sumit tiwari

      Reply

  2. By Pawan

    Reply

  3. By Pawan

    Reply

  4. By Aakanksha shastri

    Reply

  5. By Abhijeet Pandey

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *