युवा कांंग्रेसियों का जल सत्याग्रह…पुलिस पर लगाया बल प्रयोग का आरोप…प्राधिकरण को बताया सोची समझी साजिश

बिलासपुर—युवा कांग्रेसियों ने बिलासपुर विधानसभा अध्यक्ष शिवा नायडू की अगुवाई में अरपा बचाओ अभियान जल सत्याग्रह किय। युवा कांग्रेसियो को पुलिस ने गिरफ्तार कर अस्थायी जेल भेज दिया। बाद में सभी को निःशर्त रिहा भी कर दिया गया। प्रदेश सचिव जावेद मेमन ने कहा कि युवा कांग्रेस अरपा को बचाने के लिए जल सत्याग्रह कर रही है। लेकिन भाजपा नेताओं के दबाव में पुलिस शांतिपूर्ण आंदोलन के खिलाफ बलप्रयोग कर रही है। इस दौरान युवा कांग्रेसियों ने स्तानीय विधायक के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।जल सत्याग्रह कर रहे युवा कांग्रेसियो ने बताया कि हमें टेम्स नहीं बल्कि सुन्दर और नैसर्कि अरपा चाहिए। अरपा हमारी मां है। मां का आंचल हमेशा हरा भरा रहे…सरकार को विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इसके लिए छोटी बड़ी नदियों को अरपा से जोड़ा जाना जरूरी है।युंका अध्यक्ष शिवा नायडू ने कहा कि भाजपा सरकार अरपा को बेचने की साजिश कर रही है। अरपा विकाश प्राधिकरण गठन कर तट पर बसे गरीबों को परेशान किया जा रहा है। गरीबों की आवाज उठाने पर बल प्रयोग से आंदोलन को कुचला जा रहा है।
                       शिवा नायडू का ये भी कहना है कि अरपा के किनारे रहने वाले परिवारों की ज़मीन पर खरीदी बिक्री पर रोक अन्याय है। गोपाल दुबे, विनय वैद्य ने कहा अरपा के उद्गगम  स्थल से बेजा कब्ज़ा हटाकर पानी का स्त्रोत बढ़ाया जाए। अरपा के कटाव को रोकने पौधरोपण करने के अलावा वाल का निर्माण किया जाए। विकास प्राधिकरण को भंग किया कर गरीब परिवारों के साथ न्याय किया जाए।
                               युवा कांग्रेसियो ने आरोप लगाया कि विकास प्राधिकरण के बहाने अरपा तट को बेचने की साजिश हो रही है। जल सत्याग्रह आंदोलन में प्रमुख रूप से प्रदेश सचिव जावेद मेमन जिला उपाध्यक्ष आशीष गोयल, अशोक राजवाल, जिला महासचिव गोपाल दुबे, विनय वैद्य, दिनेश चांदनी, वक़ार खान, रेहान रज़ा, बिलासपुर विधानसभा अध्यक्ष शिवा नायडू,विधानसभा महासचिव ऋषि कश्यप मो.अयाज़,अमन सोनी,नवीन गोयल,रितेश कश्यप,शेख आक़ीब, वसीम खान , राज यादव,असद खान,स्वप्निल हुमने,अनन्य भीमटे, शुभम गेडाम,शांतनु मेश्राम वरुण कश्यप,नीलदीप बोरकर,आबिद अली, एवं अन्य युवा कांग्रेसी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *