युवा कांग्रेस ने दिया तीन दिन का अल्टीमेटम

IMG-20170321-WA0366बिलासपुर— जिला युवा कांग्रेस ने आज नवजात शिशु की मौत पर सिम्स का घेराव किया। युवा कांग्रेसियों ने सिम्स प्रबंधन और डाक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगाया। कांग्रेस नेताओं ने सिम्स डीन से मिलकर बताया कि यदि तीन दिनों के भीतर जिम्मेदार दोषी अधिकारियों के खिलाफ अपराधिक कार्रवाई नहीं होती है तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। कांग्रेस नेता गोपाल और जावेदन ने डीन को बताया कि सेन्ट्रल लैब में डाक्टरों की लापरवाही के चलते नवजात शिशु की दो दिन मौत पहले मौत हुई है।
                                         जिला युवा कांग्रेस नेताओं ने सिम्स प्रबंधन का घेराव कर आज जमकर नारेबाजी की। यूथ कांग्रेस नेताओं  ने इस दौरान दो दिन पहले नवजात शिशु की मौत के लिए सिम्स प्रंबधन को जिम्मेदार ठहराया।  युवा कांग्रेसियों ने जिम्मेदारी लोगों के खिलाफ अपराध दर्ज करने की मांग की।
            मा्लूम हो कि दो दिन पहले समय पर ब्लड नहीं मिलने के चलते तखतपुर विधानसभा क्षेत्र के गांव बीजागढ़ निवासी दिलचंद सूर्यवंशी के नवजात बच्चे की मौत हो गयी। दिलचंद ने बताया कि डाक्टरों की लापरवाही के चलते बच्चे को समय पर ब्लड नहीं चढ़ाया गया। डाक्टर ने बच्चे का ब्लड ग्रुप कुछ बताया तो लैब तकनिशियन कुछ…। समय पर खून नहीं मिलने पर बच्चे की मौत हो गयी।
                  घटना के बाद जिला युवा कांग्रेस महासचिव गोपाल दुबे की अगुवाई में युवा कांग्रेस ने मंगलवार को सिम्स का घेराव किया। गोपाल दुबे ने शिशु की मौत के लिए सिम्स प्रबंधन को जिम्मेदार ठहराते हुए कार्यकर्ताओं के साथ डीन और सिम्स प्रबंधक का घेराव किया। युवा कांग्रेस नेताओं ने सिम्स प्रबंधन को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि आरोपियों के खिलाफ तत्काल कार्यवाही नहीं होती है तो उग्र आन्दोलन किया जाएगा।
                     गोपाल दुबे ने बताया कि सिम्स और अव्यवस्था में चोली दामन का संबध है। पूर्व में इसी तरह की लापरवाहियों में 16 नवजात बच्चों की मौत हो चुकी है। सिम्स के डॉक्टर पूरी तरह से असंवेदनशील हैं। सड़क दुर्घटनाओं में घायल मरीजों के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है। सिम्स का स्टॉफ मरीजों को निजी अस्पताल में जाने के लिए दबाव बनाता है।

गोपाल दुबे ने बताया कि दो दिन पहले तखतपुर क्षेत्र के बीजागढ़ निवासी दिलचंद सूर्यवंशी की नवजात बच्चे की मौत इलाज के दौरान लापरवाही के कारण हुई। लापरवाही के लिए सीधे तौर पर बच्चा वार्ड डाॅक्टर, सेन्ट्रल लैब और ब्लड बैंक के कर्मचारी जिम्मेदार है। बावजूद इसके सिम्स प्रबंधन ने दोषियों पर कार्रवाई नहीं करते हुए गलतियों को छिपाने का प्रयास किया है।

                  गोपाल ने बताया कि जिला युवा कांग्रेस ने शांतिपूर्वक सिम्स का घेराव कर कार्यवाही की मांग की है। कार्यवाही नहीं होने पर उग्र आन्दोलन का फैसला किया है। गोपाल के अनुसार सिम्स प्रबंधन ने तीन दिन के भीतर नवजात शिशु के मौत के जिम्मेदार लोगों पर कार्यवाही का भरोसा दिया है। जावेद मेनन ने बताया कि बिलासपुर का स्वास्थ्य महकमा खासतौर पर सिम्स और जिला अस्पताल भ्रष्टाचार का अड्डा बन चुका है।नवजात शिशु की मौत की जानकारी प्रदेश अध्यक्ष उमेश पटेल, नेता प्रतिपक्ष टी.एस. सिंह और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल को दिया जाएगा। प्रदेश की अराजक स्वास्थ्य व्यवस्था के खिलाफ 23 मार्च को विधानसभा का घेराव किया जाएगा।
           धरना आन्दोलन कार्यक्रम में विजय वर्मा, मो. फयाज, प्रहलाद दीक्षित, भावेन्द्र गंगोत्री जिलाध्यक्ष, आशीष गोयल जिला उपाध्यक्ष, संजय भास्कर, अशोक राजवाल, जिला महासचिव विनय वैद्य, गौरव दुबे, जिला सचिव शंकर यादव, विधानसभा अध्यक्ष शिवा नायडू, बेलतरा उपाध्यक्ष अमित दुबे, महासचिव ऋषि कश्यप, प्रखर सोनी, बेलतरा उपाध्यक्ष आशिक खान, तखतपुर उपाध्यक्ष उदय वासुदेव, एन.एस.यू.आई. शहर अध्यक्ष सोहेल खलिक, विक्की खान, जानी खान, नीरज जायसवाल, मो. रमजान, वरूण कश्यप, राहुल श्रीवास, राहुल वाधवानी, अंकित बिसेन, रोहित, साहिल शेख, प्रतीक बजाज एवं समस्त युवा कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *