मेरा बिलासपुर

यूको में चौथी बार सेंधमारी….बच गए करोड़ों रूपए

IMG-20161119-WA0248बिलासपुर—-मस्तूरी में जब राऊत नाचा कार्यक्रम की व्यवस्था को लेकर पुलिस महकमा व्यस्त था। उसी दौरान यूको बैंक में सेंधमारी चोरों ने असफल सेंधमारी का प्रयास किया। आखिर चोरों को निराश होकर वापस लौटना पड़ा। शिकायत के बाद मस्तूरी पुलिस मामले की विवेचना कर रही है।

                    मस्तुरी में राऊत नाचा कार्यक्रम को देखने भीड़ उमड़ी तो पुलिस को व्यवस्था बनाने में पूरा दम लगाना पड़ा। पुलिस व्यस्तता का फायदा उठाते हुए चोरों ने यूको बैंक में सेंधमारी कर असफल लूटने का प्रयास किया। चोरों ने यूको बैंक के बाथरूम में एक्जास होल को बड़ा किया और बैंक के भीतर दाखिल हो गए।

                   अन्दर घुसने के बाद चोरों ने बैंक का कुछ देर तक मुआयना किया। जब कुछ समझ में नहीं आया तो चोर खाली हाथ वापस लौट गये। पुलिस को मिली सीसीटीवी फुटेज के अनुसार चोर करीब 11 मिनट तक बैंक के अन्दर का मुआयना किया।

                                                मस्तूरी पुलिस के अनुसार नाचा कार्यक्रम में व्यवस्था बनाने जब महकमा व्यस्त था ठीक उसी समय चोरों ने यूको बैंक में सेंधमारी कर अन्दर दाखिल हुए। मस्तूरी पुलिस थाना प्रभारी डीकेश्वर दीवान ने बताया कि यूको बैंक मैनेजर एस के सिंह ने घटना के दूसरे दिन बताया कि सुबह जब वह बैंक पहुंचे तो कुछ फाइलें इधर-उधर बिखरी हुई मिलीं। शक होने पर मैने जांच पड़ताल की। इसी दौरान मालूम हुआ कि एक्जास्ट होल से कोई ना कोई बैंक के अन्दर दाखिल हुआ था।

मकान से लाखों के गहने और नगदी पार

                                    थाना प्रभारी डीकेश्वर दीवान ने बताया कि बैंक पहुंचकर मौके का मुआयना किया। बैंक में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को जब्त किया है। फुटेज में एक व्यक्ति गमछे से चेहरे को छिपा कर रखा है। बैंक में वह करीब 11 मिनट तक था। शिकायत के बाद एफआईआर दर्ज कर लिया गया है। जांच के बाद आरोपी को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।

                        यूको बैंक मैनेजर एस.के सिंह ने बताया कि 2 करोड़ आज सुबह ही हेड आफिस में जमा करवा दिया था। मालूम हो कि पहले भी दो बार यूको बैंक में सेंधमारी की घटना हो चुकी है। साल 2013 में पहली बार और साल 2015 में दो बार बैंक में सेंधमारी हो चुकी है। एक बार फिर एक दिन पहले सेंधमारी की घटना हुई। लेकिन चोर को कुछ हासिल नहीं हुआ। जबकि पहले तीन बार में चोरों ने यूको बैंक में जमकर हाथ किया था।

                    लगातार घटना के बाद भी बैंक प्रबंधन ने अभी तक गार्ड की व्यवस्था नही की है। यही कारण है कि चोरों का सबसे आसान लक्ष्य यूको बैंक बन जाता है।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS