रमन सरकार के 5 हजार दिन पूरे होने पर पाँच हजार बच्चों ने बनाई आकृति

IAS-GAURAV-KUMAR-SINGH1-CUT-1485847731_835x547♦लिया प्रण खूब पढ़ाई करेंगे और अपने क्षेत्र का नाम रौशन करेंगे
दंतेवाड़ा।
जावंगा के एजुकेशन सिटी में छत्तीसगढ़ शासन के पाँच हजार दिन पूरे होने के अवसर पर  शासन ने बच्चों को शिक्षा के लिए प्रेरित करने किए गए संकल्प को दोहराते हुए पाँच हजार बच्चों ने पाँच हजार की आकृति बनाकर उत्साह का प्रदर्शन किया। बच्चों ने राष्ट्र भक्ति की धुनों के बीच संकल्प लिया कि भारत देश के जिम्मेदार नागरिक के रूप में देश सेवा करेंगे। इसके लिए खूब पढ़ाई करेंगे। अपने शिक्षकों के मार्गदर्शन में कार्य करेंगे।बच्चों ने संकल्प लिया कि प्रदेश को विकास के रास्ते पर आगे ले जाने के लिए पढ़ाई के साथ ही स्वच्छता का ध्यान भी रखेंगे।साथ ही अपने परिवेश को भी बेहतर करेंगे। एजुकेशन सिटी के सारे बच्चों ने जन गण मन गाया और इसके बाद अपनी टोपियाँ उछाल कर खुशी का इजहार किया।

                                                             इस अवसर पर बच्चों को संबोधित करते हुए जिला पंचायत सीईओ डॉ गौरव सिंह ने कहा कि कल भी हमने मेरी जान तिरंगा कार्यक्रम आयोजित किया। आप बच्चों ने इस कार्यक्रम में उत्साह से हिस्सा लिया।आज शासन के पाँच हजार दिन पूरा होने के अवसर पर यह विशेष कार्यक्रम किया जा रहा है और आप उतने ही उत्साह से हिस्ला ले रहे हैं। कल इसी कड़ी में चित्रकला प्रतियोगिता का आयोजन भी किया जाएगा। इस प्रतियोगिता में पहली से पाँचवी कक्षा तक के बच्चों के लिए थीम होगा तिरंगा। आप किस तरह से अपनी क्रिएटिविटी प्रदर्शित कर सकते हैं। दूसरा थीम होगा शासन के पाँच हजार दिवस। तीसरा थीम आठवी से बड़े बच्चों के लिए होगा। सभी कक्षाओं में सबसे ज्यादा क्रिएटिव चित्र बनाने वाले बच्चों को पुरस्कार दिया जाएगा।

मेरी बेटी मेरी शान कार्यक्रम में खुलाए जाएंगे 5000 सुकन्या खाता. 14 अगस्त को दंतेवाड़ा के मेंडका डोबरा मैदान सहित आठ स्थलों में सुकन्या समृद्धि योजना के खाते खुलाए जाएंगेए इसके लिए एक हजार रुपए की सहयोग राशि जिला प्रशासन की ओर से दी जाएगी। इस अवसर पर जिले भर में पाँच हजार खाते सुकन्या समृद्धि योजना के खोले जाएंगे। जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री अभिषेक त्रिपाठी ने बताया कि जिले में आठ स्थलों पर मेरी बेटी मेरी शान कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

 कार्यक्रम का उद्देश्य लड़कियों का सशक्तिकरण करना है और लैंगिक भेद से मुक्त समाज की दिशा में कदम बढ़ाना है। इस अवसर पर खाता खुलाने के लिए जन्मप्रमाण पत्र ए पहचान प्रमाण पत्र आदि लाना होगा। यदि बच्चे का पहचान पत्र नहीं है तो अभिभावक का पहचान पत्र आवश्यक होगा। इस अवसर पर महिलाओं के लिए लंच एवं ब्रेकफास्ट की व्यवस्था भी होगी। साथ ही शासन द्वारा महिलाओं के लिए चलाई जा रही अन्य योजनाओं की जानकारी दी जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *