राज्य बनने के बाद छत्तीसगढ़ को पहली बार मिला आदिवासी राज्यपाल,अनुसुइया उइके इसी हफ्ते ले सकतीं हैं प्रभार

रायपुर।राज्य बनने के करीब 20 साल बाद छत्तीसगढ़ को पहली बार आदिवासी राज्यपाल मिला है। नवनियुक्त राज्यपाल अनुसुइया उइके ने लंबे समय तक मध्य प्रदेश भाजपा में राजनीति की।पार्टी की तेजतर्रार नेत्री मानी जाती हैं ।राष्ट्रपति ने मंगलवार को छत्तीसगढ़ के लिए नए राज्यपाल की नियुक्ति कर दी। अनुसूया के संभवत इसी हफ्ते अपना पदभार संभाल लेंगी। मध्य प्रदेश भाजपा की पुरानी नेत्री हैं।अर्थशास्त्र की व्याख्याता की नौकरी छोड़ वे राजनीति में आई।10 अप्रैल 1957 को जन्मी अनुसुइया मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार में 1988 में महिला और बाल विकास मंत्री थी और राज्यसभा सद्स्य भी रह चुकी है।वे छिंदवाड़ा की निवासी है।सीजीवाल डॉटकॉम के व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करे

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सुश्री अनुसुईया उइके को छत्तीसगढ़ के राज्यपाल की जिम्मेदारी मिलने पर उन्हें हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। श्री बघेल ने उम्मीद जताई है कि राज्यपाल के रूप में  उइके का प्रतिपालकत्व छत्तीसगढ़ शासन को नई ऊर्जा और विश्वास देगा। 

यह भी पढे-ट्रांसफर या किसी काम से सीधे मंत्री से पत्राचार नहीं कर सकेंगे शिक्षक, विभाग ने जारी किया निर्देश, कार्रवाई की चेतावनी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *