राज्य युवा महोत्सव:बस्तर के दो सौ से ज्यादा युवा दिखाएंगे अपनी प्रतिभा का जौहर

रायपुर-रायपुर में पिछले महीने आयोजित नेशनल ट्राईबल डांस फेस्टिवल में अपना जौहर दिखाने के बाद बस्तर के युवा अब एक बार फिर राज्य युवा महोत्सव में अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए तैयार हैं। राज्य युवा महोत्सव राजधानी में 12 से 14 जनवरी तक आयोजित है। युवा महोत्सव में इस बार बस्तर के कलाकारों को केवल नृत्य ही नहीं बल्कि एकल कला और खेल प्रतिभा को भी राज्य स्तर पर दिखाने का अवसर मिलेगा। इस महोत्सव में बस्तर जिले के लगभग दो सौ युवा भाग ले रहे हैं.राज्य युवा महोत्सव में भाग लेने के लिए युवाओं और कलाकारों का चयन 21 नवम्बर को जगदलपुर के कुम्हरावण्ड में आयोजित जिला स्तरीय युवा महोत्सव में किया जा चुका है। दरअसल रायपुर में 27 से 29 दिसम्बर तक आयोजित नेशनल ट्राईबल डांस फेस्टिवल में बस्तर के कलाकारों को मान और सम्मान के साथ ही अंतर्राष्ट्रीय स्तर के मंच से किलेपाल केे गौर मांडिया नृत्य में पहला स्थान मिला, इससेे से भी बस्तर के युवा ज्यादा उत्साहित हैं। सीजीवालडॉटकॉम न्यूज़ के व्हाट्सएप् से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

युवा महोत्सव में लोक नृत्य श्रेणी में जिले के दरभा के 15 से 40 और 40 से अधिक आयु वर्ग में दो दलांे के 84 कलाकार भाग लंेगे। बस्तर का सुआ नृत्य, बास्तानार का बस्तहरिया नाचा, बकावण्ड का नाटक दल और बस्तर का लोकगीत की प्रस्तुति राजधानी में होगी। इसके साथ एकल प्रस्तुतियों में जगदलपुर की निधि रावल का कत्थक, प्रभा दुबे का हिन्दुस्तानी शास्त्रीय गायन, दरभा के कोया का बांसुरी वादन, जगदलपुर के विजय पटेल का तबला वादन, दरभा के देवेन्द्र सिंह का हारमोनियम वादन, बस्तर के प्रियांशु का गिटार वादन, लोहण्डीगुड़ा के याकुब बघेल का भरतनाट्यम, जगदलपुर के स्तर बघेल का पारम्परिक वेशभूषा, बस्तर की आंचल वर्मा की चित्रकला की प्रस्तुति होगी।

निबंध में करण बघेल, वाद-विवाद में करण सिंह और मनप्रीत सिंह संधु तथा क्विज प्रतियोगिता में जगदलपुर के बेनू बघेल और सावन नेताम भाग लेंगे। इसके साथ ही खेल श्रेणी में लोहाण्डीगुड़ा और तोकापाल की कब्बड़ी और खो-खो की टीम राज्य युवा महोत्सव में भाग लेंगे।

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मार्गदर्शन में ट्रायबल डांस फेस्टिवल की तरह राज्य युवा महोत्सव को भी भव्य स्वरूप दिया जा रहा है। युवा महोत्सव में 15 से 40 वर्ष तथा 40 वर्ष से अधिक आयु के दो वर्गों में ये सभी प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। 15 से 40 वर्ष आयु वर्ग में 613 और 40 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में 208 विधाओं में इस तरह कुल 821 विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित होंगी, जिसमें राज्यभर के साढ़े छह हजार से ज्यादा युवा भाग ले रहे हैं। इस महोत्सव में छत्तीसगढ़ की परम्परागत गीत, नृत्य, खेलों और छत्तीसगढ़ी व्यंजनों को भी पहली बार एक मंच में शामिल किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *