हमार छ्त्तीसगढ़

रायपुर ट्रिपल आईटी में दाखिला इसी सत्र से

iit rpr

रायपुर । सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में केरियर निर्माण का लक्ष्य लेकर चल रहे प्रतिभावान युवाओं को छत्तीसगढ़ में कल 23 जून को राज्य और केन्द्र की ओर से नई सौगात मिलेगी। केन्द्रीय ऊर्जा, कोयला और अक्षय ऊर्जा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार)  पीयूष गोयल नया अंतर्राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपल आईटी) के नवनिर्मित भवन का सवेरे 11 बजे लोकार्पण करेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह करेंगे। राज्य सरकार के उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा मंत्री  प्रेमप्रकाश पाण्डेय समारोह में विशेष अतिथि के रूप में शामिल होंगे ।

नया रायपुर स्थित अंतर्राष्ट्रीय सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (ट्रिपल आईटी) 50 एकड़ में लगभग 200 करोड़ की लागत से विकसित किया गया है। यह कैम्पस आधुनिकतम सुविधाओं से युक्त है। प्रथम चरण में एक लाख 50 हजार वर्ग फीट में अकादमिक ब्लॉक एवं एक लाख 70 हजार वर्ग फीट में छात्रावास, कैंटीन, गेस्ट हाउस, आवास एवं मल्टी परपस हॉल का निर्माण पूर्ण हो गया है। पूर्णतः वाई फाई कैंपस में अध्ययन की आधुनिकतम सुविधाओं के लिए वरचुअल क्लॉस रूम विकसित किए गए हैं, ताकि छात्र दुनिया भर से जुड़ सकें और अध्ययन के क्षेत्रों में नवीनतम ज्ञान प्राप्त कर सकें। छात्र-छात्राओं  आकर्षित करने के लिए स्कॉलरशिप फंड की स्थापना भी की गई है। प्रारंभ में दो पाठ्यक्रमों इलेक्ट्रॉनिक्स एवं कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग और कम्प्यूटर साईंस एवं इंजीनियरिंग में 40-40 की प्रवेश क्षमता के साथ स्नातक स्तर की शिक्षा उपलब्ध कराएगा।

चालू शिक्षा सत्र  2015-16  के प्रथम बैच से ही जे.ई.ई. प्रवेश परीक्षा के माध्यम दाखिला लेने वाले विधार्थियों के लिए  ट्रिपल आईटी 237 इस वर्ग किलोमीटर में विकसित किया गया है।
उल्लेखनीय है कि ट्रिपल आईटी की स्थापना छत्तीसगढ़ शासन और केन्द्र सरकार के सार्वजनिक उपक्रम एन.टी.पी.सी. के सहयोग से की गई है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में राज्य सरकार का लक्ष्य इसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर की फैकल्टी, इंफ्रास्ट्रक्चर और छात्र समुदाय से युक्त एक विश्व-स्तरीय यूनिवर्सिटी के रूप में विकसित करने का है। आईआईआईटी-नया रायपुर कुछ ऐसे विश्ष्टि क्षेत्रों में आई.टी. में शिक्षा एवं शोध के लिए अपनी पहचान बनायेगा जिनमें वर्तमान में अन्य आईआईआईटी विशेषज्ञता नहीं रखते हैं। इसमें मुख्यतः ऊर्जा, मैन्युफैक्चरिंग तथा माइनिंग सेक्टर से जुड़े विषय शामिल होंगे। आईआईआईटी-नया रायपुर में आई.टी. उद्योग की आवश्यकताओं के अनुसार कार्यक्रम को ढाला गया है, ताकि इस संस्थान से निकलने वाले छात्र आगे और कौशल विकास बिना सीधे अग्रणी आई.टी. कंपनियों द्वारा नियोजित किये जा सकें। इस हेतु आईआईआईटी अग्रणी आई.टी. कंपनियों तथा रायपुर में स्थित अन्य राष्ट्रीय महत्व के शैक्षणिक संस्थानों, आईआईएम, एम्स, नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी और एनआईटी आदि, से पाठ्यक्रम विकास, इंटर्नशिप और कोलैबोरेशन हेतु सुदृढ़ लिंकेज स्थापित करेंगा। साथ ही अकादमिक संस्थानों से प्रतिष्ठित फैकल्टी तथा उद्योगों से अनुभवी एडजंक्ट फैकल्टी दोनों को ही आकर्षित करने के लिए आईआईआईटी विशेष  प्रयास करेगा, ताकि छात्रों के सैद्धांतिक और प्रायोगिक दोनों ही पक्ष मजबूत हों।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS