मेरा बिलासपुर

राष्ट्रीय खेल से स्थानीय प्रतिभाओं को लाभ–वोरा

IMG_20151203_142518बिलासपुर—23 वां जूनियर नेशनल फैंसिंग चैम्यिनशिप प्रतियोगिता का आयोजन बिलासपुर में किया जायेगा। कार्यक्रम का आयोजन छत्तीसगढ़ फैंसिंग एसोसिएशन के तत्वावधान में 7 जनवरी से शुरू होकर 10 जनवरी 2016 के बीच होगा।  प्मंथन सभागार में आयोजित पत्रवार्ता में  संभागायुक्त सोनमणी बोरा और कलेक्टर ने बताया कि जनवरी के पहले सप्ताह में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिता के अंतिम दिन प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह भी शिरकत करेंगे पूरी कोशिश होगी।

                                    पत्रकारों से बातचीत करते हुए संभागायुक्त ने बताया कि छत्तीसगढ़ को लगातार खेलों की मेजबानी का मौका मिल रहा है। राज्य बनने के बाद खेलों को बढ़ावा देने के साथ-साथ इसके लिए अधोसंरचना भी तैयार किये जा रहे हैं। खिलाडि़यों को सरकारी नौकरी में भी छूट दी जाती है। राज्य में हर वर्ष उत्कृष्ट खिलाडि़यों को सम्मानित भी किया जाता है। इन उपायों से खिलाड़ी लगातार प्रोत्साहित हो रहे हैं और खेलों की गतिविधियां भी लगातार आयोजित हो रही है।

                  उन्होंने बताया कि तलवारबाजी यूरोप में बहुत लोकप्रिय है। राज्य में भी विगत् 7-8 वर्षां से इसे लोकप्रिय बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इस खेल को बढ़ावा देने के लिए लाफार्ज कंपनी ने गोद लिया है। साल 2009-10 में बिलासपुर में भी इसका आयोजन किया गया था। इस बार भी यह प्रतियोगिता जिला प्रशासन की देखरेख में छत्तीसगढ़ प्रदेश फैंसिंग एसोसिएशन के बैनर तले आयोजित होगी। उन्होंने कलेक्टर बिलासपुर को आयोजन समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया। वोरा ने बताया कि प्रतियोगिता अच्छी तरह आयोजित होगी तो इससे बिलासपुर की छवि भी बनेगी।

मन की नहीं किसानों की बात करे सरकार

                        खिलाडि़यों के भोजन, आवास, परिवहन की व्यवस्था कर विशेष ध्यान देना होगा। खिलाडि़यों, कोच, मैनेजर के स्वागत हेतु समिति, भोजन समिति, ट्रांसपोर्ट समिति, प्रचार-प्रसार आदि कार्यों की समिति गठित करने के निर्देश दिये। खेल के समापन एवं उद्घाटन समारोह में सांस्कृति कार्यक्रमों के आयोजन की जवाबदारी शिक्षा विभाग को दी गई। खिलाडि़यों की सुरक्षा एवं चिकित्सा व्यवस्था के लिए संबंधित विभागों को जवाबदारी दी जायेगी।
पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कलेक्टर अन्बलगन पी. ने बताया कि खिलाड़ी कहां रूकेंगे। उनके मेन्यू और सुविधाओं का ध्यान रखना जिला प्रशासन की जिम्मेदारी है। सुरक्षित मैदान तक ले जाना और बोर्डिंग स्थल तक लाना निगरानी में किया जाएगा। इस दौरान उनके सुरक्षा की बेहतर प्रबंध किया जाएंगे। कलेक्टर ने बताया कि 23 वें जूनियर राष्ट्रीय फेंसिंग प्रतियोगिता में देश के कोने-कोने से बच्चे आएंगे। अपनी प्रतिभा का परिचय देंगे। इसमें छत्तीसगढ़ की भी टीम शामिल होगी। स्थानीय प्रतिभाओं को इसका विशेष लाभ मिलेगा।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS