मेरा बिलासपुर

रिजल्ट ओरिएंटेड काम की नसीहत

IMG_20150707_105513बिलासपुर—मंथन सभागार में आज टाइम लिमिट बैठक में कलेक्टर सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी ने विभागीय गतिविधियों की जानकारी लेते हुए कार्यों में गुणवत्ता और तेजी लाने का आदेश दिया है। कलेक्टर परदेशी ने बैठक में उपस्थित जिले के सभी विभागों के आलाधिकारियों को दो टूक संदेश देते हुए कहा कि कार्यों में लापरवाही बर्दास्त नहीं की जाएगी।

                     टीएल बैठक में कलेक्टर परदेशी ने अधिकारियों से कहा कि सिर्फ बैठक में शामिल होने से कार्यों का निष्पादन नहीं होगा। देखने में आया है कि बैठक के बाद लोग अपनी पुरानी लापरवाही से बाज नहीं आ रहे हैं। समस्याएं जहां कल थीं आज भी वहीं हैं। जरूरी है कि अधिकारी अपने मातहत से रिज्लट ओरियंटेड काम लें। समीक्षा करें। इसके बाद पूरी जानकारी और तैयारी के साथ टीएल बैठक में पहुंचे।

                           बैठक के दौरान कलेक्टर कुछ ज्यादा ही सख्त नज़र आए। उन्होंने कहा कि देखने में आया है कि एक ही शिकायत बार बार पहुंच रही हैं। जाहिर सी बात है कि अधिकारी और कर्मचारी ठीक से काम नहीं कर रहे हैं। ऐसे लोगों पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने लम्बित प्रकरणों को जल्द से जल्द निपटाने का भी आदेश दिया।

               बैठक के दौरान कलेक्टर परदेशी ने स्वास्थ्य विभाग समेत भू-अर्जन और राशन दुकान जैसे मुद्दों पर भी विभागी अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारी एस.के.सक्सेना से पूछा कि मानसून जनित बीमारियों पर नियंत्रण को लेकर क्या तैयारियां है।उन्होंने कहा कि क्षेत्र में लगातार डायरिया की शिकायतें मिल रही हैं। शिकायतों को जल्द से जल्द दूर किया जाए। कलेक्टर ने मध्यान्ह भोजन में गड़बड़ी की शिकायतों का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि भोजन की गुणवत्ता पर सतत निगरानी की जरूरत है। छात्र और शिक्षकों की ओर भोजन गुणवत्ता को लेकर यदि शिकायत मिलेगी तो समितियों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि दोषी ठेकेदारों पर भी कार्रवाई की जाएगी।

आदिवासी समाज ने देश को किया गौरवान्वित ..चैयरमैन अटल ने कहा..बीच पाकर गर्व का हो रहा अहसास..माटी पुत्रों ने हमेशा निभाया साथ

                  कलेक्टर ने भू-अर्जन पर भी चर्चा की। सरकारी जमीन समेत अन्य निजी शिकायतों को भी जल्द से जल्द सुलझाने की नसीहत दी।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS