लगातार 6 दिन बन्द रहेगा बैंक..बैंकरों ने किया जंगी हड़ताल का एलान..बैंकरों ने दिखाई एक बार फिर अपनी ताकत

बिलासपुर—-युनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंसके बैनर तले बैंकरों ने 9000 रूपए प्रति परिवार पेंशन को बढ़ाने की मांग को लेकर एक फिर  प्रदर्शन किया। प्रदर्शन अखिल भारतीय स्तर पर किया गया। बिलासपुर मेें भी प्रदर्शनकारियों ने प्रति परिवार 9 हजार रूपए पेंशन दिए जाने की मांग की है।
 
           दिन भर के काम काज के बाद मंगलवार की शाम बिलासपुर जिला मुख्यालय के सभी बैंकरों ने यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के आव्हान पर विरोध प्रदर्शन किया । बिलासपुर के बैंकर्स ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स, सरकंडा शाखा के समीप एकत्रित होकर अपनी बातों को  पुरजोर तरीके से पेश किया।
 
                  ललित अग्रवाल ने बताया कि आम जनता को लगता हैं कि बैंकर्स को अच्छा वेतन मिलता है। लेकिन सच्चाई तो यह हैं कि सरकारी कर्मचारियों से आधे वेतन पर दिनरात मेहनत करने वाले बड़े से बड़े बैंक अधिकारी के आकस्मिक निधन पर बहुत कष्ठ से गुजरना पडता है। परिवार को आज की महंगाई में भी मात्र 9000 मासिक पेंशन ही मिलता है।
 
              ललित अग्रवाल ने जानकारी दी कि 1जनवरी 2018 के मूल वेतन के आंकड़ो से स्पष्ट हो जाता है कि सरकारी कर्मचारियों की तुलना में बैंकर्स को लगभग आधा वेतन मिलता हैं।
 
तुलनात्मक चार्टच
 
वर्ग                *बैंकर्स*           *सरकारी कर्मचारी*
 
सब स्टॉफ   रु.  9560       रु.18000
क्लर्क          रु. 11765     रु. 25500
अधिकारी   रु.  23700    रु. 56100
प्रबंधक        रु. 31700     रु.67700
वरिष्ठ प्रबंधक   42020     रु.78800
 
                      यूएफबीयू के संयोजक ललित अग्रवाल ने बताया कि दोनों आंकड़ों के तुलनात्मक अध्ययन के बाद ही बैंकर्स का  दर्द समझा जा सकता है। यही कारण है कि बैंकर फैमिली पेंशन और वेतन में सम्मानजनक बढ़ोत्तरी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। आम जनता से अपील है कि देश के आर्थिक सिपाहियों की तकलीफों को ध्यान में रखते हुए। अपने बैंकिग कार्य पूर्व में ही निष्पादित कर ले। क्योंकि 28 माह से भारतीय बैंक संघ के अड़ियल रवैया ने बैंकर्स को स़ड़क पर उतरने को मजबूर कर दिया है। अब वे देश, जनता, समाज के साथ अपने परिवार के भविष्य की भी चिन्ता करते हुए 11 मार्च से 13 मार्च तक तीन दिनों की हड़ताल पर जाना निश्चित है। होली और बाद में अवकाश होने से बैंक लगातार 6 दिनों तक बंद रहेगा। हालांकि डिजिटल बैंकिंग 24 घँटे सातों दिनों यथावत जारी रहेगी।
 
             प्रदर्शन में यूएफबीयू के संयोजक ललित अग्रवाल, छ. ग. बैंक एम्पलाइज एसोसिएशन के सहायक महासचिव मनोज मिरी, सीजीबीईए बिलासपुर के अध्यक्ष अशोक ठाकुर, बैंक ऑफ इंडिया ऑफिसर्स एसोसिएशन के सहायक महासचिव रूपम रॉय, मुश्ताक, विजय वर्मा, सुषमा कश्यप, अनिल राठौर, मोनू कतकपवार, कृष्णा कुमार कुर्रे, रैमन देवगम, सुखनन्दन, शैलेन्द्र गोवर्धन, मनोज सिंह, नारायण अहिरवार समेत बड़ी संख्या में बैंकर्स उपस्थित थे।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...