मेरा बिलासपुर

लाठीजार्ज के विरोध में कांग्रेसी हुए रिचार्ज

IMG-20150924-WA0013बिलासपुर— पोस्टमैट्रिक छात्रावास की छात्राओं के साथ लाठीचार्च का मामला धीरे-धीरे राजनीतिक स्वरूप लेता जा रहा है। आज कांग्रेस नेताओं ने रैली निकालकर लाठीचार्ज की घटना का विरोध किया है। कांग्रेसियों ने कलेक्टर से मिलकर विरोध जताते हुए न्यायिक जांच की मांग की है।

                           रैली निकालकर घटना का विरोध प्रदर्शन के बाद कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल कलेक्टर से मिला। घटना की निंदा करते हुए पांच बिन्दू वाला राज्यपाल के नाम मांग पत्र सौंपा। इस दौरान कलेक्टर ने लाठीचार्ज की घटना से साफ इंकार करते हुए कार्यवाही को न्यायोचित बताया है।

                   कलेक्टर से मिलने पहुंचे कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल की बातों को सुनने के बाद कलेक्टर ने कहा कि अभी तक जो भी कार्रवाई हुई है। पूरी तरह से मेरे संज्ञान में है। आगे जो भी कुछ होगा कानून और नियम सम्मत ही होगा। कलेक्टर ने कांग्रेस नेताओं को बताया कि पोस्टमैट्रिक छात्रावास से लगातार शिकायतें मिल रही थीं कि वहां कुछ लोगों ने लम्बे समय से अपना स्थायी ढिकाना बना रखा है। लड़कियों ने खुद इस बात की शिकायत की थी। इसके अलावा छात्रावास की गतिविधियो की भी लगातार शिकायत आ रही थी। अन्बलगन ने बताया कि कार्रवाई के दौरान कुछ महिलाएं बाहर की पायी गयी। जिनका पठन पाठन से कोई संबध नहीं है। उन्होंने कांग्रेसियों से कहा कि क्षमता से अधिक पाये गयी छात्राओं के लिए जो विद्यार्थी हैं उनके लिए अलग से व्यवस्था की जाएगी।

IMG-20150924-WA0012                   कलेक्टर से बातचीत के दौरान काफी तनाव का वातावरण देखने को मिला। कांग्रेसियों ने लाठी चार्ज की घटना का विरोध करते हुए कहा कि इस पूरे मामले में न्यायिक जांच की जरूरत है। कांग्रेसियों ने पांच सूत्रीय मांग वाला राज्यपाल के कलेक्टर के सामने रखते हुए कहा कि सभी मामलों पर प्रशासन गंभीरता के साथ विचार करे।

लाखों रुपए खर्च कर बने गोठान में ताला , सड़क पर घूम रहे मवेशी, फसलों को कर रहे नुकसान

                       कांग्रेसियों ने लाठीचार्ज और दर्व्यवहार की न्यायिक जांच के अलावा अनुसूचित जाति जनजाति छत्राओं के लिए जिन्हें हटाया जा रहा है उन्हें त्तकाल हास्टलों की व्यवस्था करने को कहा। कांग्रेसियों ने कलेक्टर के सामने मांग रखते हुए कहा कि आदिम जाति विभाग के दोषी अधिकारियों पर भी कार्रवाई की जाए। जिन्होने झूठी रिपोर्ट शासन के सामने पोस्टमैट्रिक छात्रावास के खिलाफ पेश किया है।

गुरू रूद्र— अनुसूचित जाति के छात्राओं के साथ अन्याय हुआ है। उन पर लाठीजार्च कर प्रशासन ने अपनी अकर्मण्ड्यता का परिचय दिया है। हम इस मामले में न्यायिक जांच से कुछ कम में मानने को तैयार नहीं है। छात्राओं को रात्रि में हास्टल से निकाला गया। यदि इस स्थान पर गैर अनुसूचित जाति की छात्राएं होती तो क्या उन पर भी इसी तरह से कार्रवाई होती। जिला प्रशासन ने नैतिक आधार पर भी गलत कार्रवाई की है। हम इस मामले में न्यायिक जांच की मांग करते हैं।

तानाशाह प्रशासन-–कलेक्टर ने जैसा काम किया है ऐसा काम सिर्फ तानाशाह लोग ही करते हैं। आज हम लोगों को कलेक्टर महोदय शांति व्यवस्था और नैतिकता का पाठ पढ़ा रहे थे। उस समय कहां गई थी नैतिकता जब बच्चियों पर लाठीचार्ज किया गया। जरूरत पड़ी तो हम इस मुद्दे को लेकर जोन से भी उग्र आंदोलन करेंगे।

                                                                                            अटल श्रीवास्तव,महामंत्री प्रदेश कांग्रेस छत्तीसगढ़

गंभीर भुगतान करना होगा—जिला प्रशासन तानाशाह हो चुका है। गरीबों की बच्चियों पर लाठीचार्ज किया गया। रात्रि में उन्हें थाने में बैठाकर रखा गया। यदि हमारी मांगों पर विचार नहीं किया गया तो सरकार को इसका गंभीर भुगतान करना पड़ेगा।

हाईकोर्ट में भी आवारा मवेशियों की गूंज...कोर्ट ने कहा गंभीर समस्या....शासन से मांगा जवाब..बताएं अब तक क्या किया

                                                                                              राजेन्द्र शुक्ला अध्यक्ष जिला कांग्रेस ग्रामीण बिलासपुर

घटनाक्रम में षणयंत्र की बू— इस पूरे घटना क्रम में षड़यंत्र की बू आर रही है। यह सब किसके इशारे पर हुआ इसकी जांच जरूरी है।

                                                                           नरेन्द्र बोलर अध्यक्ष शहर कांग्रेस बिलासपुर

आंतंकी संगठन जैसा वर्ताव— मिड सेशन में इस प्रकार की कार्रवाई निंदनीय है। खासतौर पर छात्राओं पर लाठीचार्ज फिर उन्हें गिरफ्तार कर थाना ले जाना । यह सब क्या हो रहा है। उनके साथ जैसा व्यवहार किया गया है। वैसा व्यवहार किसी आंतंकी संगठनों से ही किया जाता है। शासन ने नैतिकता की सारी हंदे पार कर दी है।

                                                                       विजय केशरवानी,कांग्रेस नेता बिलासपुर

कैसी नैतिकता कहां की नैतिकत—कांग्रेस ने इस पूरे प्रकरण पर खुद जांच करने का निर्णय लिया है। प्रदेश अध्यक्ष के निर्देश पर एक कमेटी का भी गठन कर दिया गया है। हमें अब भाजपा सरकार और जिला प्रशासन से किसी प्रकार की उम्मीद नहीं है। कलेक्टर एक तरफ लड़कियों की सुरक्षा की गवाही दे रहे हैं तो दूसरी तरफ लड़कियों पर लाठीचार्ज भी करवा रहे हैं।

                                                                    अभयनारायण राय,संभागीय प्रवक्ता कांग्रेस बिलासपुर

जांच की जरूरत नहीं—  सब कुछ मेरे संज्ञान  में है लॉ एण्ड आर्डर के लिए सख्त कदम उठाना पड़ता है। लड़कियों के साथ कोई अन्याय नहीं हुआ है। दोषियों पर कार्रवाई होगी। मुझे लगता है कि न्यायिक जांच की जरूरत नहीं है। हमने समय से पहले किसी बड़े हादसे को रोकने का प्रयास किया है।

                                                                    अन्बलगम पी. कलेक्टर बिलासपुर

            रैली निकालने के बाद कलेक्टर से मिलने वालों में कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेता उपस्थित थे। कलेक्टर के सामने घटनाक्रम के विरोध में अटल श्रीवस्तव, राजेन्द्र शुक्ला, नरेन्द्र बोलर, अभय नारायण राय, रूद्र गुरू, चिका वाजपेयी, विजय केशरवानी,पंकज सिंह,ऋषि पाण्डेय, राजेश पाण्डेय,शेख नजरूद्दीन,शहजादी कुरैशी, शैलेन्द्र जायसवाल समेत कई वरिष्ठ कांग्रेस नेता उपस्थित थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS