लेखराम की याचिका…खतरे में सरोज पाण्डेय का चुनाव…हाईकोर्ट ने मांगा जवाब…अब 4 सप्ताह बाद 4 सितम्बर को होगी सुनवाई

बिलासपुर– हाईकोर्ट ने शुक्रवार को भाजपा नेता लेखराम साहू की याचिका पर सुनवाई करते हुए राज्यसभा सांसद को नोटिस जारी कर चार सप्ताह के अन्दर जवाब देने को कहा है। हाईकोर्ट ने जानना चाहा है कि क्या सरोज पाण्डेय का राज्यसभा सदस्य के लिए चुनाव कानूनी और संवैधानिक प्रक्रिया के तहत हुआ है या नहीं। मामले में सुनवाई अब 4 सितम्बर को होगी। यह जानकारी लेखराम साहू के वकील सुदीप श्रीवास्तव ने पत्रकारों को दी है।

                          लेखराम साहू के वकील सुदीप श्रीवास्तव ने बताया कि पिछले साल राज्यसभा चुनाव के बाद सरोज पाण्डेय के खिलाफ लेखराम साहू ने याचिका दायर कहा कि भाजपा नेत्री का चुनाव नियम के अनुसार नहीं हुआ है। उन्होने चुनाव के समय कई जानकारियों को चुनाव आयोग से छिपाया है। उन्होने अपना बैंक अकाउन्ट,  उल्लेख नहीं किया है। पता ठिकाना की भी जानकारी दी है। मामले में एक साल पहले लेखराम साहू की याचिका के बाद हाईकोर्ट ने सरोज पाण्डेय को नोटिस देकर जवाब देने को कहा था।

                    सुदीप ने बताया कि शुक्रवार को हाईकोर्ट के सामने सरोज पाण्डेय के वकील गौतम खेत्रपाल ने पत्र जमा करते हुए कहा कि मामला चलने योग्य नहीं है। हाईकोर्ट ने लेखराम साहू को सुनने के बाद जानना चाहा कि आखिर मामला चलने योग्य क्यों नहीं है। सुदीप ने यह भी बताया कि लेखराम साहू की तरफ से बताया कि चुनाव के समय सरोज पाण्डेय ने कई जानकारियों को छिपाया है। उन्होने ना तो बैंक अकाउन्ट की जानकारी…ना ही पता ठिकाना ही ठीक से बताया है। इतना ही तात्कालीन समय करीब 18 विधायक संसदीय सचिव और निगम मण्डलों में जिम्मेदारी निभा रहे थे। उन्होने वोट अधिकार नही होने के बाद भी सरोज पाण्डेय को मत दिया।

                          जानकारी पेश किये जाने और हाईकोर्ट की तरफ से सवाल उठने पर सरोज पाण्डेय के वकील ने जवाब को नहीं पेश किया। हाईकोर्ट ने सरोज पाण्डेय के चुनाव को लेकर नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने कहा कि चार सप्ताह के बीच मामले में अपना जवाब पेश करें। अगली सुनवाई 4 सितम्बर को होगी।

        सुदीप ने पत्रकारों को बताया कि सामान्यत राज्यसभा चुनाव पार्टी विधायकों के बीच होता है। इसके पहले राज्यसभा चुनाव में गड़बड़ी को लेकर अहमद पटेल के खिलाफ गुजरात हाईकोर्ट में मामला चल रहा है। शायद सरोज पाण्डेय का देश में दुसरा मामला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *