विकास भवन में कांग्रेसियों का हंगामा…हॉकरों ने लगायी न्याय की गुहार

IMG-20170511-WA0017बिलासपुर— कांग्रेसियों ने आज निगम आयुक्त कार्यालय का घेराव किया। निगम प्रशासन पर हॉकर गली के निवासियों के साथ प्रताड़ना का आरोप लगाया। कांग्रेस पार्षद और संगठन के नेताओं ने विकास भवन में जिन्दाबाद मुर्दाबाद के नारे लगाये। रसूखदारों के पक्ष लेने का भी आरोप लगाया। इस बीच उग्र कांग्रेसियों ने सीधे तौर पर आयुक्त पर निशाना साधा। करीब घंटे भर बाद आयुक्त ने कांग्रेसियों से मुलाकात की। आश्वासन दिया कि उनकी शिकायतों पर विचार किया जाएगा।

                          मिट्टी तेल हाकरों के साथ कांग्रेसियों ने विकास भवन और नगर निगम आयुक्त कार्यालय का घेराव किया। लेकिन आयुक्त ने कांग्रेसियों से मिलने से इंकार कर दिया। नाराज कांग्रेसियों ने विकास भवन कार्यालय में नारेबाजी करते हुए धरने पर बैठ गए। कांग्रेसियों के तेवर देखने के पहले ही आयुक्त ने पुलिस बल को बुला लिया। करीब एक घंटे तक कांग्रेसियों के हंगामे के बाद  मामला आयुक्त से बातचीत के बाद खत्म हुआ।

                                         सिंधी कालोनी से लगे मिट्टी तेल हाकर गली के लोगों को निगम प्रशासन ने मकान तोड़ने का नोटिस जारी किया है।जानकारी के अनुसार मिट्टी तेल हॉकर गली के करीब 150 मकानों को तोड़कर स़ड़क बनाया जाएगा। करीब आधा किलोमीटर लम्बी सड़क वनमण्डल कार्यालय को बलराम टाकीज के सामने से निकलने वाली सड़क को जोड़ेगी।

                बहरहाल निकम के फरमान के बाद मिट्टी तेल हाॅकर परिवार परेशान है। दोपहर को कांग्रेस शहर अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, वरिष्ठ कांग्रेस नेता शिवा मिश्रा,अभय नारायण राय,निगम के नेता प्रतिपक्ष शेख नजीरूद्दीन, कांग्रेस पार्षद प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल, दीपांशु श्रीवास्तव, रामा बघेल के साथ जिला कांग्रेस कमेटी ने निगम आदेश का विरोध करते हुए आयुक्त से मिलने का समय मांगा। लेकिन आयुक्त मिलने से इंकार कर दिया। इसके पहले कांग्रेसियों की आने की खबर लगते ही आयुक्त ने पुलिस बुला लिया था।

                  पुलिस ने कांग्रेसियों को विकास भवन में प्रवेश करने से रोक दिया। इतना होते ही नाराज कांग्रेसियों ने निगम आयुक्त सौमिल रंजन चौबे और निकाय मंत्री के खिलाफ नारेबाजी करने लगे।

                             अपर आयुक्त राकेश जायसवाल ने कांग्रेसियों से बातचीत का प्रयास किया। लेकिन कांग्रेस नेता और पार्षदों ने जायसवाल से बातचीत से इंकार कर दिया। कांग्रेसियों ने कहा जब तक बात करने नहीं आते हैं। हम लोग विकास भवन के सामने धरने पर बैठे हैं। अंत में उपायुक्त जायसवाल को लौटना पड़ा। अभियंता पी.के.पंचायती ने भी कांग्रेसियों को मनाने का असफल प्रयास किया। IMG-20170513-WA0384

                 अंत में आयुक्त सौमिल रंजन चौबे को कांग्रेसियों की जिद के सामने झुकना पड़ा। आयुक्त से मिलकर जिला शहर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर,शेख नजरूद्दीन और शैलेन्द्र ने बताया कि जिन गरीबों के आवास को तोड़ने का फैसला लिया गया है। उनके पास स्थायी पट्टा है। जबकि झुग्गी झोपड़ियों से लगे पक्के मकान बनाने वाले रसूखदारों ने सरकारी जमीन पर अतिक्रमण किया है। सड़क निर्माण के नाम पर गरीबों के आशियाना उजाडने का फैसला अन्यायपूर्ण है। यह एकतरफा कार्रवाई है।

दोनों तरफ हो माप

                  कांग्रेस नेताओं ने सौमिल रंजन को बताया कि मिट्टीतेल हॉकर और कांग्रेसी भी चाहते हैं कि चौड़ी और अच्छी सड़क बने। लेकिन कार्रवाई एकतरफा ना हो। सभी ने कहा कि गली के मध्य से दोनो तरफ नापजोख किया जाए। इसके बाद जो भी परिणाम आता है हम उसके लिए तैयार हैं।

                             मिट्टी तेल हॉकरों ने बताया कि निगम सिर्फ एकतरफा कार्रवाई कर रही है। सड़क का निर्माण वर्तमान गली से एक तरफ करने का फैसला लिया गया है। दूसरी तरफ बड़े लोगों की पक्की ईमारते हैं। यह जानते हुए भी कि इमारत अवैध कब्जे में है। बावजूद इसके रसूखदारों को बचाया जा रहा है।

आवेदन पर करेंगे विचार

                कांग्रेस नेताओं और मिट्टी तेल हाकरों से सौमिल रंजन ने कहा कि उनके आवेदन और बातों पर विचार किया जाएगा। इसके बाद जो भी निर्णय होगा सभी को जानकारी दी जाएगी। मिट्टी तेल हाकरों ने कहा कि यदि एकतरफा कार्रवाई होती है तो हम लोग आदेश का पुरजोर विरोध करेंगे। पीड़ितों ने बताया कि हमे सरकार ने यहां बसाया है। यहां 60 से अधिक समय से रहते हैं। उनके पास स्थायी पट्टा भी है।

पुलिस ने भी जताई नाराजगी

                          आयुक्त के बुलावे पर विकास भवन पहुंचे पुलिस के बड़े और छोटे अधिकारियों ने नाराजगी जताई।  प्रशिक्षु आईपीएस और टीआई समेत  अन्य पुलिसकर्मियों ने कहा कि बात-बात पर पुलिस को बुला लिया जाता है। जबकि जनप्रतिनिधि अपनी बातों को रखने आए हैं। ऐसे में हमारी क्या भूमिका हो सकती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *