विधायक ने की टल्ली बीएमओ को हटाने की मांग

IMG-20170220-WA0936बिलासपुर— बिल्हा विधायक ने कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर धरती के भगवान की शिकायत की है। विधायक ने बताया कि शराब की आदतों के कारण ही देवेन्द्र प्रधान को बिल्हा से हटाया गया था। एक बार फिर उसे बिल्हा वासियों पर थोप दिया गया है। इसे किसी भी सूरत में बर्दास्त नहीं किया जाएगा। सियारान ने बताया कि देवेन्द्र प्रधान नशे की हालत में काम करता है। यही कारण है कि महिलाएं प्रसव कराने बिल्हा स्वास्थ्य केन्द्र न जाकर बिलासपुर आना पसंद करती हैं।

                            विधायक सियाराम कौशिक ने एडिश्लनल कलेक्टर कुंजाम को बताया कि बिल्हा बीएमओ यदा कदा ही स्वास्थ्य केन्द्र आता है। जब भी आता है नशे में धुत रहता है। बीएमओ की करतूतों से मरीज और परिजन ही नहीं बल्कि स्वास्थ्य केन्द्र के कर्मचारी भी परेशान हैं।सियाराम के अनुसार मरीजों ने बताया कि डॉक्टर देवेन्द्र प्रधान हमेंशा टल्ली में रहता है। महिला मरीज समेत सभी से अश्लील बातें और अनाप शनाप हरकत करता है। प्रधान की इन्ही हरकतों के चलते एक बार बिल्हा से हटाया गया था। दुबारा फिर उसे हमारे सीना पर कोदो दरने के लिए शासन ने बिल्हा स्वास्थ्य केन्द्र भेज दिया है।

                                 सियाराम के साथ शिकायत करने विधायक समर्थकों ने कहा कि नशेड़ी बीएमओ को कई बार मार भी पड़ चुकी है। बावजूद इसके वह अपनी आदतों से बाज नहींं आ रहा है। कर्मचारियोंं से रूपयों की माग करता है। रूपए नहीं देने पर ट्रांसफर और सस्पेंड करने की धमकी भी देता है। विधायक समर्थकों ने बताया कि देवेन्द्र के खिलाफ स्थानीय लोगों और कर्मचारियों में आक्रोश है। इसलिए जरूरी है कि उसे जल्द से जल्द बिल्हा से हटाया जाए। अन्यथा कभी भी अनहोनी घटना हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *