मेरा बिलासपुर

विधायक ने वेचैन करने वाला वीडियो जारी कर पूछा..क्या इन्हें भी मिलेगी जिन्दगी..और हम सुकुन से ले रहे नींद..

बिलासपुर—- एक दिन पहले विस्थापितों के समर्थन में कलेक्टर को पत्र लिखने के बाद बिलासपुर विधायक ने आज एक वीडियो जारी किया है। विडियों में विधायक ने बताया है कि ईमलीभाठा से विस्थापित लोगों की रात कुछ इस तरह गुजर रही है। प्रशासन इन बेघर हुए लोगों को लेकर क्या सोच रहा है।
 
                   बताते चलें कि एक दिन पहले शैलेष पाण्डेय ने कलेक्टर को पत्र लिखकर बताया है कि नप्रतिनिधि होने के नाते मेरा कर्तव्य है कि सबसे पहले नागरिकों की समस्या और तकलीफो को दूर करूं। शहर का विकास और जनता की उम्मीदों  पर खरा उतरूं। विधायक होने के नाते मैं भी चाहता हूं कि विकास योजनाओं का सही क्रियान्यवयन हो।
 
                      अपने पत्र में विधायक ने यह भी बताया कि अरपा विकास को लेकर विस्थापित होने वाले लोगों ने मुलाकात की है।लोगों ने अपनी पीड़ा को जाहिर किया है। उम्मीद है उनकी समस्याओं को दूर करेंगे।
 
       सोमवार की सुबह विधायक ने एक वीडियों भी सोशल मीडिया में शेयर किया है। उन्होने बताया कि ईमलीभाठा और बंधवापारा से विस्थापित लोग रात कुछ इस तरह गुजार रहे है।जब हम चैन से घर में सो रहे है..उसी समय इन गरीबों के बच्चे बुजुर्ग खुले आसमान के नीचे अग्नि परीक्षा देने को मजबूर हैं।
 
                वीडियों के साथ विधायक ने कैप्शन भी लिखा है।  साथ ही बातचीत के दौरान उन्होने बताया कि प्रशासन ही नहीं बल्कि सबको इस वीडियो को जरूर देखना चाहिए। वीडियो इमली भाठा के गरीब परिवार का है। इन परिवार को आईएचएसडीपी के क्वार्टर से बेदखल किया गया है। निगम का दावा है कि सभी लोग अवैधकब्जाधारी हैं। इन्हें पहले से ही आवास आवंटित किया जा चुका है। कुछ आस पास के लोगों ने मकान खाली होने के बाद कब्जा किया है।
 
              विधायक ने कहा कि सवाल उठता है कि आखिर फिर यह लोग खुलेआसमान के नीचे मच्छरों और परेशानियों को क्यों न्योता दे रहे हैं। जाहिर सी बात है कि बेदखल किए गए लोगों का यह वीडियो परेशान करने वाला है। क्योंकि कठिन समय मे सभी को घर से बेदखल किया गया है। यह नजारा आज रात का है। दुख होता है ऐसी घटनाओं से। उम्मीद है कि विडियो देखने के बाद प्रशासन इनकी जरूर सुनवाई करेंगा।

पढ़ें...ऐसे पकड़ायी बिलासपुर की महिला नटवर लाल..फारेस्ट विभाग में नौकरी लगाने का झांसा देकर..कैसे दी लाखों रूपयों की ठगी को अंजाम
Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS