मेरा बिलासपुर

विवाद मुक्त संभाग बनाने की पहल…..

 

sonmani vorah

 बिलासपुर । संभागीय कमिश्नर सोनमणि वोरा ने बिलासपुर संभाग को राजस्व विवाद मुक्त बनाने की पहल की है। जिसके तहत गांव – गांव स्तर पर रेवेन्यू संबंधी मामलों का निपटारा कर आने वाले 15 अगस्त तक कमिशनरी को विवाद मुक्त बनाने का लक्ष्य रखा गया है। गांव- गांव के पटवारी 25 मई से इस मुहिम में जुट गए हैं और जिला कलेक्टर से लेकर तमाम आला अफसर इसकी निगरानी करेंगे।

गौरतलब है कि नामांतरण , बंटवारा, फौती जैसे मामलों को लेकर किसानों को अकसर पटवारियों के चक्कर लगाने पड़ते हैं और काम नहीं हो पाता। उधर राजस्व औऱ वाद न्यायालयों में जमीन – रेवेन्यू संबंधी मामले बड़ी संख्या में अटके पड़े हैं। कई जगह इस वजह से झगड़े की भी नौबत आती है । अकसर ऐसी खबरें भी आती हैं और शासन – प्रशासन से राजस्व के मामलों के स्थाई निराकरण के लिए ठोस पहल की उम्मीद की जाती है। समय – समय पर इसके लिए मुहिम भी चलाई जाती है । लेकिन विवाद शून्य जैसी स्थिति नहीं बन पाई है । इसके मद्देनजर संभागीय कमिश्नर सोनमणि वोरा ने संभाग में बड़े पैमाने पर एक मुहिम शुरू की है। 25 मई से बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़, जाँजगीर – चाँपा और मुँगेली जिलों में इस मुहिम की शुरूआत की गई है।

इस मुहिम के तहत सभी ग्राम पंचायतों में शिविर लगाकर नक्शा दुरूस्तीकरण, नकल , किसान – किताब , पुस्तिका बनाने , सीमांकन, नामामतरण, बंटवारा और भूमिहीनों को पट्टा देने जैसे काम मौके पर ही किए जाएंगे। इस दौरान पारिवारिक बंटवारे के मामलें से लेकर बंदोवस्त त्रुटि सुधार और चाँदा – मुनारा दुरूस्त करने की जिम्मेदारी भी दी गई है।पंचायतों की मदद से गांवों में बेजा – कब्जा हटाने और कोटवार – पटेल के खाली पद भरने का काम भी होगा।

हरी झण्डी देखते ही स्वच्छता रथ रवाना...मेयर और कमिश्नर ने कहा...बिना सहयोग से जंग जीतना नामुमकिन

कमिश्नर सोनमणि वोरा ने जो आदेश जारी किया है , उसमें समय – समय पर मुहिम की प्रोग्रेस रिपोर्ट भी मंगाई गई है। साथ ही रेवेन्यू इंस्पेक्टटर से लेकर तहसीलदार डिप्टी – कलेक्टर और कलेक्टरों को भी इसकी लगातार निगरानी के लिए कहा गया है। जिससे आने वाले 15 अगस्त तक संभाग को राजस्व विवाद मुक्त संभाग बनाया जा सके।

 

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS