विवेक तन्खा के निर्देश पर FIR दर्ज करने की मांग..कांग्रेस नेताओं ने कहा..वातावरण में घोला जा रहा जहर

सिविल लाइन थाना पहुंचकर थानेदार परिवेश को एफआईआर के लिए शिकायत करते कांग्रेस नेता
बिलासपुर— अर्णव गोस्वामी का मामला धीरे धीरे तूल पकड़ता जा रहा है। आज कांग्रेस के राष्ट्रीय विधि प्रकोष्ठ अध्यक्ष तन्खा और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन  मरकाम के निर्देश पर प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, प्रदेश कांग्रेस विधि प्रकोष्ठ अध्यक्ष संदीप दुबे,जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष विजय केशरवानी,प्रमोद नायक और अधिवक्ता कमलकांत मिश्रा ने राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ गलत बयानी पर लीखित शिकायत की है। सभी नेता सिविल लाइन थाना पहुंचकर थाना प्रभारी परिवेश तिवारी से एफआईआर दर्ज किए जाने की  मांग की है।
               
                        जानकारी हो कि अर्णव गोस्वामी ने एक डिबेट लाइव कार्यक्रम में कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ बयान दिया। पूछता भारत कार्यक्रम में सोनिया गांधी को लेकर कई सवाल किए। सवाल और बयान को लेकर कांग्रेस में भयंकर आक्रोष है। 
 
          मामले को लेकर आज सांसद विवेक तन्खा और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के निर्देश पर आज सिविल लाइन थाने में लिखित शिकायत कर अर्णव गोस्वामी के खिलाफ अपराध दर्ज किए जाने की मांग की गयी। शिकायत करने वालों में शामिल प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष अटल श्रीवास्तव, प्रदेश कांग्रेस विधि प्रकोष्ठ प्रमुख संदीप दुबे, जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी और प्रमोद नायक समेत वरिष्ठ कांग्रेस अधिवक्ता कमलकांत मिश्रा ने कहा कि अर्णव गोस्वामी ने पत्रकारिता को कलंकित किया है। उन्होने जब तब देश का माहौल बिगाड़ने का काम किया है।
 
                कांग्रेस नेताओं ने सिविल लाइन थाना पहुंचकर बताया कि अर्णव गोस्वामी ने राष्ट्रीय पार्टी अध्यक्ष के खिलाफ जिस प्रकार का बयान और सवाल किया निश्चित रूप से बार्दास्त के काबिल नहीं है। उन्होने मर्यादाओं को लांघते हुए देश को धर्म के आधार पर दंगा के लिए उकसाया है। धार्मिक उन्माद पैदा करने की कोशिश की है।
 
        कांग्रेस नेताओंं ने कहा कि जहाँ एक तरफ देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है, वहां इस तरह से नफरत का वातावरण तैयार किया गया है। इससे कांग्रेस कार्यकर्त्ताओं में रोष है।
 
         कांग्रेस की मांग है कि ऐसे  व्यक्ति और चैनल के खिलाफ आईपीसी की धारा 153,  153A, 153B, 295 A, 504 एवं 505 के तहत तुरंत अपराध दर्ज किया जाए।
 
प्रदेश के अन्य जिलों में भी एफआईआर दर्ज करने की मांग
    
                   बिलासपुर समेत प्रदेश के अन्य जिलों में कांग्रेस के नेताओं ने थाना पहुंचकर अर्णव के खिलाफ अपराध दर्ज किए जाने की शिकायत की है। अम्बिकापुर में विधि प्रकोष्ठ जिला प्रमुख राजेश दुबे और दुर्ग में विधि प्रकोष्ठ जिला प्रमुख प्रीतम देशमुख ने भी एफआईआर दर्ज किए जाने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *