मेरा बिलासपुर

वेट लिफ्टिंग प्रतियोगिता में नामचीन खिलाड़ी होंगे शामिल

IMG_20151025_132303बिलासपुर— बिलासपुर में पहली बार राज्य स्तरीय सिनियर वेट लिफ्टिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। प्रतियोगिता में महिला और पुरूष प्रतिभागी शामिल होंगे। पत्रकारों को जानकारी देते हुए प्रदेश के स्टार वेट लिफ्टर बुधराम सारंग ने बताया कि प्रतियोगिता में देश के जाने माने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी शामिल होंगे।

                       वेट लिफ्टर की दुनिया में कई पुरस्कारों से सम्मानित बुधराम सारंग ने बताया कि अविभाज्य मध्यप्रदेश के समय से ही अंचल का वेट लिफ्टिंग के खेल में दबदबा था। राज्य बनने के बाद धीरे-धीरे वेट लिफ्टिंग के क्षेत्र में खिलाड़ियों की रूची में कमी आई है। इसकी वजह जानकारी और सुविधाओं का अभाव होना है। राष्ट्रीय खिलाड़ी सारंग ने बताया कि पहले बिलासपुर से बहुत खिलाड़ी वेट लिफ्टिंग में आते थे। पिछले कुछ सालों से ऐसा देखने को नहीं मिल रहा है। इस बात को लेकर छत्तीसगढ़ वेट लिफ्टर एसोसिएशन चिंतित है।

               गुरू हनुमान अवार्ड से सम्मानित सारंग ने बताया कि वेट लिफ्टिंग को बढ़ावा देने के लिए संगठन ने प्रदेश में जगह-जगह प्रतिय़ोगिता करने का निर्णय लिया है। ताकि ज्यादा से ज्यादी प्रतिभा सामने आ सके। उन्होंने कहा कि बिलासपुर में प्रतियोगिता का आयोजन हमारी इसी योजना का एक हिस्सा है।

             वेट लिफ्टिंग जिला वेट लिफ्टिंग के सचिव तरूण यादव ने बताया कि बिलासपुर में पहली बर महिला और पुरूष वेट लिफ्टिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। प्रतियोगिता का आयोजन 21 और 22 नवम्बर को किया जाएगा। इसमें राष्ट्रीय स्तर के बड़े-बड़े सम्मान से नवाजे गए खिलाड़ी शामिल होंगे। साथ ही राज्य स्तर के धुरंधर खिलाड़ी भी हिस्सा लेंगे।

एसईसीएल मुख्यालय को शतरंज मेंं पहला स्थान

             यादव ने बताया कि इस प्रकार के आयोजन से स्थानीय प्रतिभाओं को फायदा मिलेगा। लोगों को वेट लिफ्टिंग के बारे में जानकारी मिलेगी। संयुक्त सचिव छ्त्तीसगढ़ वेट लिफ्टर एसोसिएशन बुधराम सारंग ने बताया कि बेटे लिफ्टिंग में प्रदेश का कमजोर प्रदर्शन का मुख्य वजह जानकारी का अभाव और कोच की कमी है। उन्होंने बताया कि देखने में आया है जो खिलाड़ी इसमें भाग लेते हैं वे बहुत गरीब घर के होते हैं। हम ऐसे खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करने के लिए निशुल्क प्रशिक्षण भी दे रहे हैं।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS