शहर की साफ सफाई का जायजा लेने रात में निकले नए निगम कमिश्नर पांडे,रात में भी लगेगी सेनेटरी इंस्पेक्टर की ड्यूटी

बिलासपुर।पदभार ग्रहण करने के पहले दिन ही निगम कमिश्नर  प्रभाकर पाण्डेय ने शहर की सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। कमिश्नर ने देर रात तक शहर की जीआईएस बेस्ड मेकेनाइज्ड एवं मेन्युअल स्वीपिंग कार्य का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने परफेक्शन के साथ कार्य करने और सफाई की मानिटरिंग के लिए रात में भी सेनेट्ररी इंस्पेक्टर की ड्यूटी लगाने के निर्देश अधिकारियों को दिए।

कमिश्नर ने सरकंडा मुख्य मार्ग से निरीक्षण शुरू किया। इस दौरान सरकंडा मुख्य मार्ग पर मैकेनिजम वाहन से सड़क की सफाई हो रही थी। निरीक्षण के दौरान कमिश्नर श्री पाण्डेय ने रूट चार्ज के साथ तकनीकी जानकारी ईई पीके पंचायती, श्री अनुपम तिवारी से ली।

तकनीकी जानकारी लेने के बाद उन्होंने लॉयन कपनी के कर्मचारियों से सफाई मशीन और कर्मचारियों की उपस्थिति की जानकारी। कंपनी के कर्मचारियों ने बताया कि मशीन के साथ 18 कर्मचारियों की टीम कार्य करती है। इस दौरान कमिश्नर श्री पाण्डेय ने कर्मचारियों की उपस्थिति की भी जानकारी ली। उन्होंने परफेक्शन के साथ सड़कों की सफाई करने की बात कही। सफाई की मानिटरिंग के लिए रात में भी सेनेट्ररी इंस्पेक्टर की ड्यूटी लगाने के निर्देश स्वास्थ्य अधिकारी डा. ओंकार शर्मा को दिए। इसके बाद कमिश्नर श्री पाण्डेय महामाया चौक पहुंचे। यहां जेट मशीन से यात्री प्रतिक्षालय और चौक की सफाई की जा रही थी।

इस दौरान उन्होंने जेट मशीन की क्षमता और कर्मचारियों की उपस्थिति की जानकारी ली। इसके बाद नेहरू चौक पहुंचकर काम्पेक्टर वाहन द्वारा रात्रिकालीन खाली करने की प्रक्रिया का जायजा लिया। इस पर कमिश्नर ने बीन रूट और संख्या के साथ कचरा वजन करने की प्रक्रिया की जानकारी ली। मेसर्स दिल्ली एमएसडब्लयू लिमिटेड हैदराबाद के कर्मचारियों ने बताया कि शहर में 520 बीन रखा गया है, जिसे रात में 2 गाड़ियों से और दिन में 6 गाड़ियों से खाली किया जाता है।

बीन में रखे कचरा को कछार स्थित आरडीएफ प्लांट में खाली किया जाता है। इसतरह बीन से कचरा उठाने का कार्य दिन और रात दोनों समय चलता है।

निरीक्षण के दौरान एक ठेला संचालक से भी कमिश्नर पाण्डेय ने बातचीत की और डस्टबीन रखने की बात कही। कमिश्नर श्री पाण्डेय ने कहा कि ठेला के संचालन से जो कमाई होती है, उससे आपका परिवार चलता है। इसलिए इसका सम्मान करते हुए अपने प्रतिष्ठान और आसपास की सफाई रखें। इस दौरान कमिश्नर ने डस्टबीन वितरण की स्थिति की जानकारी भी अधिकारियों से ली।

निरीक्षण के दौरान कई जगहों पर मलबा पड़ा मिला। इस पर कमिश्नर श्री पाण्डेय ने नाराजगी जताई। श्री पाण्डेय ने कहा कि कई जगहों पर मलबा पड़ा है, जो कचरे के समान ही आंखों में चुभता है। इससे सफाई होने के बाद भी सफाई व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह खड़ा होता है। इस दौरान उन्होंने मलबा को विधिवत उठाने की जवाबदेही स्वच्छता निरीक्षकों को देने के आदेश दिए गए। इस दौरान उन्होंने स्वच्छता निरीक्षकों के क्षेत्र में सार्वजनिक स्थल व मार्ग पर मलबा पाए जाने पर स्वच्छता निरीक्षकों पर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश स्वास्थ्य अधिकारी डा. शर्मा को दिए।

Comments

  1. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *