शिक्षा कर्मियों की नियम विरुद्ध भर्ती और पदोन्नतिः सूची निरस्त करने आँदोलन शुरू

जगदलपुर । बस्तर जिला पँचायत में सहायक शिक्षक पँचायत से शिक्षक पँचायत में हुए गलत तरीके से पदोन्नति आदेश ने  अब तूल पकड़ लिया है । इस सिलसिले में शिक्षक पंचायत / नगर निकाय एसोशिएसन की शिकायत के बाद पंचायत संचालक ने बस्तर जिला पांचायत सीईओ से प्रतिवेदन मांगा है। उधर संगठन ने पात्र शिक्षकों को न्याय मिलने तक आंदोलन शुरू कर दिया है।
विगत दिवस मुख्य सचिव अजय सिंह के साथ हुए शिक्षक पँचायत संवर्गो के विभिन्न संघो के बैठक में शिक्षक पँचायत/ननि एम्पलाइज एसोसिएशन के प्रांतीय अध्यक्ष कृष्ण कुमार नवरंग ने बस्तर पदोन्नति में हुए व्यापक गड़बड़ी की शिकायत की थी।  उन्होंने मुख्य सचिव  को बताया कि बस्तर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने पदोन्नति  व भर्ती नियम के विपरीत जाकर सहायक  शिक्षक से शिक्षक पँचायत में पदोन्नति की है ।  उनके द्वारा पदोन्नति के अनारक्षित बिंदु में पर्याप्त वरिष्ठता और योग्यता के बावजूद आरक्षित वर्गों के सहायक शिक्षक पँचायत को पदोन्नति नही दी गई है  । जिसके कारण अनेको योग्य लोगो कों पदोन्नति नही मिल पाई ।  ज्ञात हो कि जिला पँचायत द्वारा नियम विपरीत कार्य करने के कारण सामान्य वर्ग के लोगो को 52% आरक्षण मिल गया है ।  जबकि सामान्य वर्गो को आरक्षण का प्रावधान ही नही है और जो संविधानिक प्रावधानों का उल्लंघन है ।  साथ ही अंग्रेजी विषय में विषय विरुद्ध हिंदी, वाणिज्य वाले योग्यताधरियो को पदोन्नति दे दी गई ।  जिसकी शिकायत  के  बाद मुख्य सचिव के आदेशानुसार पंचायत  संचालक  तारन प्रकाश सिंहा द्वारा अपने आदेश दिनाँक 21/3/18 को CEO बस्तर को आदेशित करते हुए पदोन्नति सम्बन्धी सभी कार्यवाही का प्रतिवेदन प्रस्तुत करने को कहा गया है। शासन के इस आदेश के लिए मुख सचिव, अपर मुख्य सचिव,पँचायत संचालक, का संघ की ओर से प्रांताध्यक्ष कृष्ण कुमार नवरंग,उप प्रांताध्यक्ष  एम.के.राणा और प्रांतीय प्रभारी sc प्रकोष्ठ राधेश्याम टण्डन  ने आभार  माना है और उम्मीद जताई है कि  शीघ ही आरक्षित वर्गों के लोगो को न्याय मिल सके गा। फिर भी संघ ने तय किया है की जब तक गलत और मनमानी सूची निरस्त कर नियमानुसार नई सूची जारी नही की जाती  है तब तक बस्तर जिला ईकाई ने 11 अप्रैल से अनवरत अनिश्चित कालीन आंदोलन शुरू कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *