शिक्षा कर्मीः CS के साथ अगली मीटिंग में संविलयन को भी एजेंडा में शामिल करें…. नवरंग ने उठाया मुद्दा.

रायपुर ।  प्रदेश के 1 लाख 80 हजार शिक्षक पँचायत संवर्गो के संविलियन सहित अन्य माँगो के संदर्भ में 16 मार्च को मंत्रालय महानदी भवन रायपुर में सभी संघो के प्रांताध्यक्षो का प्रदेश के मुख्य सचिव  अजय सिंह के साथ महत्वपूर्ण बैठक सम्पन्न हुई। जिसने मोर्चा के दो पदाधिकारी एकता मंच के दो और एम्पलाइज एसोसिएशन से कृष्ण कुमार नवरंग को माँग के परिपेक्ष में बोलने व पक्ष रखने  को कहा गया  । जिसमें श्री नवरंग ने   पुरजोर ढंग से यह बात रखी कि बैठक के एजेंडा में संविलयन को भी शामिल किया जाना चाहिए।
कृष्ण कुमार नवरंग ने कहा कि  16 मार्च के बैठक एजेंडा में संविलियन का माँग नही रखी गई थी।  जिसे शामिल किया जाए तथा आगामी बैठक में इस मांग पर ही गम्भीरता पूर्वक चर्चा हो। बैठक एजेंडा नें शामिल पदोन्नति के संदर्भ में सभी वर्गों को पदोन्नति शीघ्र किया जाए ,जो लोग पदोन्नति से वंचित हो उन्हें अनिवार्य रूप से क्रमोन्नत वेतन का लाभ शीघ्र दिया जाए  तथा वर्ग 3 की वेतन विसंगति को सबसे पहले दूर किया जाए।  पदोन्नति प्रक्रिया में संवैधानिक प्रावधान अनुसार तथा राज्य शासन के जारी आदेश आरक्षण रोस्टर नियम 2003 के अनुसार योग्यता और अनुभव के आधार पर पदोन्नति के अनारक्षित बिंदु में आरक्षित वर्गो को पदोन्नति दिया जाए तथा बस्तर व कबीरधाम के त्रुटिपूर्ण आदेश को तत्काल निरस्त कर नियमानुसार नया आदेश जारी किया जाए।
उन्होने कहा कि  अगर शासन के समक्ष पँचायत शिक्षको का शिक्षा विभाग में संविलियन करना सम्भव नही होने की दशा में समस्त शिक्षा विभाग का ही पँचायत में संविलियन कर एक समान शिक्षकीय व्यस्था बनाकर सभी को समान काम समान वेतन भत्ते व अन्य सुविधाएं दिया जाए। संस्था प्रमुखों के पदों पर वरिष्ठता के आधार पर शीघ्र पदोन्नत किया जाए।  1998 से एक ही पद पर कार्य कर रहे व्यख्याता पँचायत को  6 वा वेतनमान 2013 के नियम 11 के अनुसार दो उच्चत्तर पद का वेतनमान प्रदान करते हुए समयमान वेतन मान सहित भूतलक्षी प्रभाव  के साथ वेतन की गणना किया जाए।
प्रदेश के 1 लाख 80 हजार शिक्षाकर्मीयो के कामकाज के लिए प्रदेश स्तर पर मात्र 1 अधिकारी 1 बाबू और 1 चपरासी है। जिसमे से   बी.एन. मिश्रा अधिकारी माह जून में सेवानिवृत्त हो रहे है । जबकि मात्र 40 हजार नियमित शिक्षको के लिये मंत्री सचिव, संचालक सहित प्रदेश, जिला और ब्लाक तक पूरा अमला है ।यही कारण है कि हम लोगो का  वेतन,पदोन्नति, सहित हर छोटी बड़ी समस्या नियमिय रहती है।
श्री नवरंग ने  संचालक  तारण प्रकाश सिंह द्वारा संघ प्रमुखों का माँग व समस्या सम्बन्धी समाधान के लिए मंत्रालय स्तर पर रोक सम्बन्धी आदेश को निरस्त करने की भी मंग रखी ।
कृष्ण कुमार नवरंग ने बताया कि  सम्बन्धित माँगो को प्रमुखता से रखा गया ।  जिस पर मुख्य सचिव  अजय सिंह द्वारा पँचायत के प्रमुख सचिव  आर.पी.मण्डल को पदोन्नति में आरक्षण मुद्दा को ठीक करने,आगामी बैठक में बैठक एजेंडा संविलियन को प्रमुखता से शामिल कर चर्चा करने,मंत्रालय आने जाने में लगी रोक हटाने का आश्वासन दिया। इस बैठक में  एसोसिएशन के प्रांताध्यक्ष कृष्ण कुमार नवरंग के साथ संघ के पदाधिकारी  राजेन्द्र बघेल, रोहित डिंडोरे, निर्मल खुटे, जिलाध्यक्ष राधेश्याम टण्डन व अशोक महादेवा शामिल हुए।

Comments

  1. Reply

  2. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *