संविधान में समग्रता का चिंतन– अग्रवाल

BHASKAR MISHRA
2 Min Read

sanvidhan divash samaroh me samil hue nagryia prashsan mantri (6)बिलासपुर—हमारे देश के  संविधान को विश्व का सबसे परिपक्व और समृद्ध संविधान माना जाता है। हमारा संविधान में सबको आर्थिक, सामाजिक और राजनैतिक समानता का अधिकार दिया गया है। नगरी प्रशासन, उघोग एवं वाणिज्यकर मंत्री अमर अग्रवाल ने आज सूर्यवंशी समाज के तत्वावधान में आयोजित संविधान दिवस समारोह  में उक्त बातें कहीं।

नगरीय प्रशासन मंत्री  अग्रवाल ने कहा कि यह पहला कार्यक्रम है जो संविधान दिवस पर सामाजिक रूप से मनाया जा रहा है। सूर्यवंशी चेतना मंच ने संविधान का सम्मान किया है। हमारा संविधान 26 नवम्बर को बना और  26 जनवरी 1950 को लागू किया गया। जिसे हम गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते है। हमें अपने संविधान के मूलभावना में तेजी के साथ काम करने की आवश्यकता है। हमारे देश का संविधान  हाथों से लिखा गया है। जिसकी प्रति आज भी सुरक्षित रखी गयी है। इसे बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर और उनकी टीम ने तैयार किया है।

हमारे अपने जो आर्थिक, सामाजिक रूप से पिछड़े रह गए थे, उनके लिए संविधान में विशेष प्रावधान रखा गया है। उसी का परिणाम है। कि आज हम आर्थिक , सामाजिक और राजनैतिक दृष्टि से अपने अधिकारों के प्रति सजग है। उन्होने कहा कि  संविधान में जिन्होने ने भी छेड़छाड़ करने की कोशिश की उन्हे जनता ने नकारा है।

इस अवसर पर महापौर किशोर राय ने कहा कि  हमें संविधान की मूलभावना एकता और अखण्डता को ध्यान में रखकर कार्य करना चाहिए।कार्यक्रम के अध्यक्ष श्री बिसाहू राम अनंत ने कहा कि  समाज के लोगों को संविधान में निहित अपने अधिकारों को पढ़ना चाहिए। कार्यक्रम का शुभारंभ बाबा साहेब भीमराम अंबेडकर के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया गया। कार्यक्रम में समाज के प्रमुख लोगों का सम्मान शाल श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह प्रदान कर किया गया।

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close