समपार फाटकों को किया जाएगा बंद

railwaal_picasa- Copyबिलासपुर— समपारों पर दुर्घटनाओं को रोकन मंडल स्तर पर रेलवे प्रशासन ने अब तक वित्तीय वर्ष 2015-16 में 11 समपारों को यातायात को पूरी तरह से बंद कर दिया है। मार्च के अंत तक करीब दस फाटकों को बंद कर दिया जाएगा। इसके अलावा आवागमन के वैकल्पिक व्यवस्था का भी इंतजाम किया गया है। रेलवे प्रशासन की माने तो इसमें स्थानीय लोगों के अलावा स्काउड गाइड समेत सांस्कृतिक कलाकारों का भरपूर समर्थन मिला है।

                           मार्च अंत तक मंडल रेल प्रशासन 11 समपार के अलावा दस समपार को पूरी तरह से बंद कर देगा।  लोगों में रेलवे गतिविधियों को लेकर जबरदस्त उत्साह देखने को मिल रहा है। आने वाले समय में लोगों के सहयोग से रेलवे सुरक्षा और सरंक्षा को लेकर हमेशा की तरह ठोस कदम उठाए जाएंगे। अभी तक लोगों को जागरूक करने के लिए स्काउट गाइड,सांस्कृतिक कलाकारों और वाल पेंटरों का सहयोग मिला है। उम्मीद है कि आगे भी संरक्षा और सुरक्षा को लेकर सहयोग मिलेगा।

     रेल प्रशासन के अनुसार सड़क उपयोगकर्ताओं के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिए साल 2009 से प्रत्येक साल 3 जून को अंतर्राष्टीय समपार जागरूकता दिवस और जून का प्रथम सप्ताह समपार जागरूकता सप्ताह के रूप में मनाया जाता है।  बिलासपुर मंडल में जनवरी 2015 से जून 15 तक अंतर्राष्ट्रीय समपार जागरूकता सप्ताह मनाया गया था ।  इस दौरान संरक्षा एवं सुरक्षा विभाग के अधिकारी और कर्मचारी सडक उपयोगकर्ताओं को बैनर,पम्पलेट और परामर्श से लोगों को जागरूक किया। स्काउट-गाइड एवं रेलवे कल्चरल टीम ने विभिन्न स्टेशनों में नुक्कड नाटकों के जरिए दुर्घटनाओं का जीवंत चित्रण कर जागरूकता का संदेश दिया ।

              रेल प्रशासन के अनुसार सभी मानवरहित समपारों पर बोर्ड के माध्यम से यह सावधनियां बरतने की सलाह दी जाती है। रेल अधिनियम के अनुसार, मानव रहित समपार पर सड़क वाहन के ड्राइवर को रूककर  देखना चाहिए कि दोनों ओर से कोई रेलगाड़ी आ रही है अथवा नहीं। मानवरहित समपार को लापरवाही से पार करना दंडनीय अपराध है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *