मेरा बिलासपुर

अब समिति के सामने होगा बीयू छात्र संघ अध्यक्ष का फैसला

bu 6

       बिलासपुर— बिलासपुर विश्वविद्यालय में दिन भर कांग्रेसियों और एनएसयूआई की धमाचौकड़ी के बाद अंत में वही हुआ जो विश्वविद्यालय कुलपति डॉ.गौरी दत्त शर्मा ने तय कर रखा था। दिनभर की गहमा गहमी के बाद कुलपति ने कांग्रेसियों को खुश करते हुए ज्ञानेश्वर रामटेक को दो बार जीत का सर्टिफिकेट दिया। लेकिन डॉ.शर्मा रिकाउन्टिग के कदम से पीछे नहीं हटे।

           विवादों में घिरा बिलासपुर छात्र संघ चुनाव आज शाम तक रोचक मोड़ पर आकर खत्म हुआ। कुलपति डॉ.गौरीद्त्त शर्मा ने सीजी वाल को बताया कि जांजगीर चांपा में काउन्टिग के दौरान बिजली गुल हो गयी थी। इसलिए वहां का परिणाम काफी देर से मिला। जो परिणाम हमें मिले उसमें प्राथमिक स्तर पर ही काफी देखने को मिली। चुनाव रिपोर्ट में दो एक जगह अंको से छेड़छाड़ कर सफेदा का इस्तेमाल किया गया है। कुलपति ने बताया कि रात्रि में एबीव्हीपी कार्यकर्ताओं ने मेरे सामने शिकायत रखी। इसी आधार पर मैने रिकाउन्टिग का फैसला किया है।

                 कुलपति ने बताया कि रविशंकर विश्वविद्यालय में रिकाउन्टिंग नहीं कराने का फैसले से मैं इत्तफाक नहीं रखता हूं। क्योंकि आडिनेंस में स्पष्ट कहा गया है कि विवाद की स्थिति में निर्देशिका के अनुसार कदम उठाए जाएंगे। उसी निर्देशिका को आधार बनाकर रिकाउन्टिंग का फैसला लिया गया है। कुलपति ने विवेकाधिकार के बात को दरकिनार करते हुए कहा कि रिकाउन्टिंग का फैसला नियमानुसार होगा। इसके लिए एक समिति बनेगी। समिति के सामने काउन्टिंग किया जाएगा। उस दौरान अध्यक्ष पद के दोनो प्रत्याशी उपस्थित रहेंगे।

           कुलपति ने बताया कि जल्द ही समिति का गठन कर लिया जाएगा। कुलपति के इस फैसले से नाराज यूथ कांग्रेस और कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने विश्वविद्यालय के सामने जमकर हंगामा किया। पुलिस ने मामले को तनावपूर्ण होने से पहले ही हालात को नियंत्रित कर लिया।

नए साल में चालू हो जाएगा तिफरा फ़लाईओवर... रेललाइन के ऊपर स्लैब की ढलाई के बाद करीब़ पूरा हो गया काम..

               कुलपति के इस निर्णय के बाद कांग्रेसियों ने बिलासपुर बंद करने का एलान किया है। बताया जा रहा है कि इसका निर्णय आज देर रात भूपेश बघेल के बिलासपुर आने के बाद लिया जाएगा।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS