मेरा बिलासपुर

सरकार के खिलाफ कांग्रेस ने खेला दांव

IMG_20150702_133043 बिलासपुर—दिल्ली में जब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल और छत्तीसगढ़ विधानसभा नेता प्रतिपक्ष टी.एस.सिंहदेव राष्ट्रीय अध्यक्ष से मिलने के बाद उपाध्यक्ष से मिल रहे थे। उसी दौरान पूर्वनियोजित कार्यक्रम के तहत आज जिला कांग्रेस कमेटी की बैठक कांग्रेस कार्यालय में हुई। बैठक में मस्तूरी, बिल्हा, कोटा और मरवाही विधायक के अलावा कांग्रेस के सभी वरिष्ठ नेता नान घोटाले मुद्दे को लेकर चर्चा कर रही थी। सभी ने एक सुर में जमीनी स्तर पर नान घोटाले की जांच को लेकर आवश्यक रणनीतियों पर चर्चा के बाद कमेटियों का गठन किया। जिले के सभी 6 कमेटियां 20 जुलाई के पहले विभिन्न धानसंग्रहण केन्द्रों और अन्य स्रोतों से जानकारी एकत्रित कर रिपोर्ट अध्यक्ष को सौपेंगी।

                   पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल के एलान के बाद कांग्रेस की जिलास्तर कमेटी नान घोटाले की जांच करेगी। आज जिला कांग्रेस कार्यालय में जिले में नान घोटाले की जांच को लेकर 6 कमेटियों का गठन किया गया। सभी कमेटियां ब्लाक स्तर से लेकर विधानसभा स्तर तक धान खरीदी केन्द्रों कार्यालयों और समितियों में जाकर जांच पड़ताल करेगी। बैठक के दौरान जांच की दिशा क्या होगी जैसे तमाम बिन्दुओं पर कांग्रेसियों ने अपने विचारों को रखा। जिला कांग्रेस अध्यक्ष राजेन्द्र शुक्ला ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि नान घोटाला प्रदेश के सबसे बड़े घोटालों में एक है। जिसके तार सीधे मुख्यमंत्री निवास से जुड़े हैं। जांच के बाद सभी बिन्दुओं से स्पष्ट हो गया है कि इसमें उम्मीद से कहीं अधिक रूपयों का घोटाला हुआ है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के निर्णय के बाद जिला स्तर पर कमेटियों का गठन किया गया है। कांग्रेस का कार्यकर्ता इसे गंभीरता से लेते हुए जांच करेगी। जांच के बाद दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा।

                           बैठक में कोटा विधायक रेनू जोगी भी विशेष रूप से उपस्थित थीं। उन्होंने बताया कि नागरिक खाद्य आपूर्ति विभाग में भारी भ्रष्टाचार खेल हुआ है। कांग्रेस की जांच रिपोर्ट के बाद सब कुछ सामने आ जाएगा। रेनू जोगी ने कहा कि जल्द ही चाऊर वाले बाबा की बाबागीरी सबके सामने आ जाएगी। रमन सिंह कांग्रेस जांच को लेकर इन दिनों भारी चिंतित हैं। चुनाव के पहले उन्होंने 70 परिवार का राशन कार्ड बनाया था। उस समय ही कांग्रेस ने जाहिर कर दिया था कि नागरिक आपूर्ति विभाग में घोटाला हुआ है। उसके बाद आनन फानन में गलती छिपाने के लिए रमन सरकार ने लाखों परिवार का राशन कार्ड निरस्त कर दिया था। जब नानन घोटाला का मामला सामने आया तो सबको पता चला कि यह सब छिपाने के लिए किया गया है। रेनू जोगी ने बताया कि सरकारी जांच में पहले से स्पष्ट हो गया है कि स्कूटर से धान की ट्रांसपोर्टिंग की गयी है।

पुलिस कार्रवाई में 60 लीटर महुआ शराब बरामद..नकली नोट का लालच देकर करते थे लूटपाट..2 गिरफ्तार

                               मरवाही विधायक ने बताया कि 6 सब कमेटियां तीन प्रमुख मुद्दों पर जांच करेगी। जिनमें संग्रहण,वितरण और मिलिंग जैसे बिन्दु शामिल होंगे। कांग्रेस की टीम पता लगाएगी कि धान केन्द्रों में कितना संग्रहण हुआ और कितना वितरण। वितरण के समय किन साधनों का प्रयोग किया गया था। मिलिंग का आदेश किसने दिया था। अमित ने यह भी बताया कि वारदाना सुतली और तालपतरी में घोटाला हुआ है। कांग्रेस कमेटी इसकी भी जांच करेगी।

                  जिला कांग्रेस अध्यक्ष ग्रामीण राजेन्द्र शुक्ला ने बैठक के बाद बताया कि रिपोर्ट आने के बाद महाघोटाले की रिपोर्ट को सदन में रखा जाएगा। जनता के सामने पेश किया जाएगा। इसके बाद प्रदेश कांग्रेस कमेटी के दिशा निर्देश पर जिला स्तर पर धऱना प्रदर्शन के जरिए भाजपा सरकार का पोल खोल अभियान चलाया जाएगा।

                   जिला कांग्रेस कमेटी की बैठक में मरवाही विधायक अमित जोगी,कोटा विधायक रेणु जोगी, मस्तूरी विधायक दिलीप लहरिया,बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक,प्रदेश कांग्रेस महामंत्री अटल श्रीवास्तव, शहर जिला कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर समेत जिले सभी वरिष्ठ कांग्रेसी नेता उपस्थित थे।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS