हमार छ्त्तीसगढ़

सरगुजा प्राधिकरण को राहत की दरकार– अमित

amit_jogi360x270सरगुजा–सरगुजा विकास प्राधिकरण क्षेत्र में मरवाही विधायक अमित जोगी ने बैठक लेकर क्षेत्र में राहत कार्य तेज करने को कहा है। उन्होंने बताया कि इस साल औसत से कम वर्षा होने से खे की स्थिति निर्मित हो चुकी है।क् षेत्र के किसानो में भारी चिंता है। प्रदेश में पहले से ही किसानों की आत्महत्या का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। क्षेत्र के किसान राहत कार्य मिलने का इंतजार नहीं कर सकते हैं। सरकार किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लए जल्दी हरकत में आये। और प्राधिकरण क्षेत्र के सभी पंचायतों को सूखाग्रस्त घोषित करे।

                 अमित जोगी ने कहा कि सरकार दूसरे राज्यों से शिक्षकों की आउटसोर्सिंग करने की बजाय नियम बदल कर प्रदेश के बेरोजगार इंजीनियरिंग एमएससी, बीएससी ग्रेजुएट्स को हाई स्कूल के विषयों को पढ़ाने का मौका दे। प्राधिकरण के क्षेत्र में शिक्षकों की कमी को दूर किया जा सके। स्थानीय बेरोजगार युवाओं को रोज़गार मिल सके । अमित जोगी ने कहा कि सरगुजा विकास प्राधिकरण का क्षेत्र झारखंड और बिहार से लगे होने की वजह से नशा और मानव तस्करी का फैलता जाल क्षेत्र के विकास में बहुत बड़ी रूकावट हैं। इसके रोकथाम के लिए सरकार को तुरंत जिला अस्पतालों में नशा मुक्ति केंद्र की स्थापना करनी चाहिए और व्यापक स्तर पर एक सक्रिय मानव तस्कर नियंत्रण सेल बनाना चाहिए।

                  प्राधिकरण के बैठक की कार्यप्रणाली एवं मुख्यमंत्री द्वारा 30 विधानसभाओं को 400 हैंडपंप देने की घोषणा पर आपत्ति जताते हुए अमित जोगी ने कहा कि सरगुजा विकास प्राधिकरण की बैठक का उद्देश्य पूरे क्षेत्र की समस्यायों से परिचित होकर उनके निराकरण और समूचे क्षेत्र के विकास के लिए एक रोड मैप तैयार करना है। शासन मंच को कोरी घोषणाओं के लिए इस्तेमाल न करे। 400 पंपए 30 विधानसभाओं में लगाने का मतलब है 13 पंप एक विधानसभा में लगाना है। जो ऊंट के मुंह में जीरा वाली बात होगी। प्रदेश में सूखा एक अत्यंत गंभीर समस्या है और इससे निपटने सरकार को अभी से गंभीर होना चाहिए।

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS