सरेआम आत्महत्या का प्रयास..पुलिस में खलबली

CIVIL LINE THANAबिलासपुर—मंदिर चौक जरहाभाठा में पिकअप ड्रायवर ने खुद पर पेट्रोल डालकर आत्महत्या का प्रयास किया। खबर सुनते ही पुलिस महकमें और इलाके में सनसनी फैल गयी।  मामला वाहन चैकिंग के दौरान हुआ। पुलिस ने युवक को हिरासत में लिया है। एएसआई की शिकायत पर सिविल लाइन पुलिस ने शिकायत दर्ज किया है। एडिश्नल एसपी ने ड्रायवर का बयान  लिया है।

                      मंदिर चौक जरहाभाठा के पास दर्दनाक हादसे के बाद पुलिस ने जरहाभाठा में एक टीम को तैनात किया है। वाहनो के कागजात सहित लोगो को हेलमेट लगाने के लिए जागरूक करे। आज वाहन चैकिंग के दौरान एएसआई अशोक पाण्डेय ने एक पीकप को रोका। पिकअप में सब्जी लेकर तिफरा थोक सब्जी मण्डी जा रहा था। पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान ड्रायवर से दस्तावेजो की मांग की। ना जाने किस पर वाहन चालक विमल ध्रुव भडक गया। एएसआई को धमकी देने लगा कि अगर कार्रवाई करेगा तो वह खुद पर पेट्रोल डाल कर आत्मदाह कर लेगा।

                            एएसआई अशोक पाण्डेय और विमल ध्रुव के बीच बहस तेज हो गयी। देखते ही देखते सड़क जाम हो गया। किसी तरह यातायात के जवानो ने मामला शांत करवाते हुए यातायात को सुगम बनाया। इस बीच अशोक पाण्डेय ने पीकप  की चाभी जब्त कर लिया। चालान पटाने के बाद गाड़ी ले जाने को कहा। नाराज विमल ने खुद पर पेट्रोल डालकर आत्महत्या की धमकी देकर चला गया।

                                 आत्महत्या की  धमकी से घबराया एएसआई ने एक आरक्षक को विमल के पीछे नेहरू चौक की तरफ भेजा। लेकिन विमल कहीं दिखायी नहीं दिया। मामले की जानकारी यातायात थाना प्रभारी आशीष अरोरा और कंट्रोल रूम को जानकारी दी गयी। सूचना मिलते ही यातायात थाना प्रभारी आशीष आरोरा और पुलिस पेट्रोलिग पार्टी मौके पर पहुच गयी। इसी दौरान विमल एक हरे रंग की बोतल में पेट्रोल लेकर पहुचा और गाडी की चाभी देने को कहा। चाभी नहीं देने पर पेट्रोल छिड़ककर आत्मदाह करने की बात कहने लगा।

                             एएसआई ने चाभी देने से इंकार किया तो उसने अपने उपर पेट्रोल डाल लिया। इसके पहले ड्रायवर खुद को आग लगाता पुलिस ने उसे धर दबोचा। एएसआई पाण्डेय ने सिविल लाइन थाना प्रभारी नासर उल्ला सिद्धकी के सामने बयान में दर्ज कराया है। मामले की गंभीरता को देखते हुए एडिश्नल एसपी प्रशांत कत्लम भी थाने पहुच गए और पीकप ड्रायवर का बयान दर्ज किया। मामले में उच्चाधिकारियो से लेकर थाना प्रभारी कुछ भी बोलने से बचते रहे हैं। खबर लिखे जाने तक मामले में कोई कार्रवाई नही हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *