ससुराल पर दहेज प्रताड़ना का आरोप

sarkanda thanaबिलासपुर—पति की प्रताडना से तंग आकर जहर सेवन करने वाली नवविवाहिता की अपोलो में उपचार के दौरान मौत हो गई।परिजनो ने दामाद और उसके घरवालों पर दहेज प्रताड़ना का आरोप लगाया है। पुलिस ने ससुराल पक्ष पर 498 और  304  के तहत मामला दर्ज किया है।

                       सीपत पंधी निवासी त्रिवेणी केंवट का विवाह मोपका निवासी विजय केंवट से  2014 में हुआ । विवाह के बाद से ही विजय और त्रिवेणी के बीच संबंध अच्छे नहीं थे। लड़की माता पिता के अनुसार शादी के बाद बच्ची को दहेज के लिए लगातार प्रताड़ित करते थे। दामाद विजय बच्ची के साथ रोज मारपीट करता था। शादी के दौरान भी दहेज को लेकर दोनो परिवारो के बीच विवाद हुआ था। सामाज के प्रयास से मामला का शांत किया गया था।

                              मृतक त्रिवेणी के परिजनों ने बताया कि समय के साथ बच्ची के साथ मारपीट कम नही हुई। त्रिवेणी कालेज में पीजीडीसीए की पढाई करने जाती थी। विजय उसके चरित्र पर शक करने लगा। शक और मारपीट से तंग आकर त्रिवेणी ने जहर पांच परवरी को जहर का सेवन कर लिया। त्रिवेणी के पिता राम भगत केंवट और भाई योगश केंवट ने पुलिस बयान में बताया कि मृतक त्रिवेणी के साथ ससुराल वाले जानवारों से बदतर व्यवहार करते थे।

                        वहीं त्रिवेणी के परिजनों के आरोप को खारिज करते हुए विजय ने कहा कि वह अपनी पत्नी से बेहद प्यार करता है। उसने जहर क्यों खाई मुझे इसकी जानकारी नहीं है। उसे उपचार के लिए सिम्स में मैने ही दाखिल कराया था।

                      त्रिवेणी ने अपने अंतिम कथन में नायाब तहसीलदार नरेन्द्र बंजारा को बताया है कि पति और सास ससुर दहेज के लिए उसके साथ मारपीट करते थे। पति उसके चरित्र पर शक करता था। पुलिस ने बयान के आधार पर एफआईआर दर्ज कर लिया है।

               मामले की जांच कर रही पुलिस के अनुसार आरोपी के खिलाफ 498,323,506और 34 का मामला दर्ज किया गया है। त्रिवेणी की मौत होने के बाद इसमें आईपीसी की धारा 304 बी भी किया जा सकता है। जिसकी जांच राजपत्रित अधिकारी करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *