ससुराल में मानसिक चिकित्सालय से भागा कैदी

Central Jail Bsp Image.jpg (1)बिलासपुर— चार दिन पहले मानसिक चिकित्सालय से फरार कैदी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने कैदी को धरसीवां स्थित ससुराल से अपने हिरासत में लिया है। फरार कैदी का नाम दिनेश सारथी है। बताया जा रहा है कि सारथी मानसिक रूप से बीमार है। आज उसे मानसिक चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

                       पुलिस ने मानसिक चिकित्सालय से फरार आरोपी दिनेश सारथी को धरसीवां के खैरकुट गांव से हिरासत में लिया गया है। मालूम हो कि दिनेश 6 जनवरी बैरग नम्बर 8 की पहली मंजिल से कूद कर फरार हो गया था। दिनेश बैरक नम्बर चार में कैद था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने दिनेश सारथी को धरसीवां स्थित उसके ससुराल खैरकुट से गिरफ्तार किया है। फरार कैदी को आज बिलासपुर के कोनी थाना लाया गया। उपचार के लिए उसे मानसिक चिकित्सालय सेंदरी में दाखिल कराया गया है।

                               पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार 302 का आरोपी दिनेश सारथी को 29 जनवरी को बालोद उप जेल से बिलासपुर केन्दीय जेल लाया गया था। सुरक्षा के लिए रात भर केन्द्रीय जेल में रखा गया।  30 तारीख को सेंधरी के मेंटल हॉस्पिट दाखिल करवाया गया था। मानसिक रुप से कमजोर मरीज दिनेश सारथी को बैरग 4 में 1-4 गार्ड की सुरक्षा में रखा गया था। मेंटल हॉस्पिटल में मरीज रोज घूमाता –  फिरता था। सुरक्षा के मद्देनजर उसे हथकडी भी लगया गया था।

                  6 फरवरी की सुबह  4 नंबर के बैरग से निकलकर दिनेश 8 नंबर के बैरग के टूटी हुई खिड़की से बाहर छलांग लगा दिया। घटना की जानकारी उस समय हुई जब खाना खाने के लिए मरीजो को हाल में बुलाया गया। गिनती के दौरान संख्या में एक मरीज कम निकला। मरीज की सुरक्षा में लगे जवान टिकेन्द्र शर्मा ने कोनी थाने में मामले की शिकायत दर्ज कराई। बंदी मरीज के भागने के बाद पुलिस ने दिनश सारथी के रिश्तेदारो से पूछताछ की।  लेकिन कोई सुराग हाथ नही लगा।

              खोजबीन के दौरान पुलिस को मुखबीर से सूचना मिली की दिनेश सारथी अपने ससुराल में है। बालोद थाने एसआई टिकेन्द्र शर्मा, आरक्षक याद राम चन्द्रा, विनोद कुमार, सुदर्शन कृपाल ने कोनी पुलिस के साथ रायपुर धरसीवा के खैरकुट पहुचे औरदिनेश सारथी घर से हिरासत में लिया । टीम को दिनेश ने बताया कि  भागते समय हथकड़ी को रास्ते में  फेक दिया है। मरीज के बताये स्थान पर तलाशी के बाद हथकड़ी नही मिली है। बालोद पुलिस ने मानसिक रुप से बीमार मरीज को फिर से उपचार के लिए सेंधरी मानसिक चिकित्सालय में दाखिल कराया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *